Home देश मानसून दक्षिण गुजरात क्षेत्र के साथ, महाराष्ट्र व् तेलंगाना के शेष भागों...

मानसून दक्षिण गुजरात क्षेत्र के साथ, महाराष्ट्र व् तेलंगाना के शेष भागों की ओर बढ़ा

पूर्वी भारत और मध्य भारत के निकटवर्ती भागों में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना

दिल्ली-भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र को अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून आज 10 जून, 2021 को दक्षिण गुजरात क्षेत्र के कुछ हिस्सों, महाराष्ट्र, तेलंगाना और एमपी के शेष भागों, आंध्र प्रदेश, दक्षिण मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़ तथा दक्षिण ओडिशा, मध्य बंगाल की खाड़ी के शेष भागों और उत्तर बंगाल की खाड़ी के अधिकतर हिस्सों की ओर बढ़ गया।

दक्षिण-पश्चिम मानसून के अगले 48 घंटों के दौरान गुजरात के और अधिक भागों, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के शेष भागों संपूर्ण पश्चिम बंगाल, तथा झारखंड और बिहार तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों और उत्तर बंगाल की खाड़ी के शेष भागों की ओर बढ़ने के लिए स्थिति अनुकूल है।

दक्षिण पश्चिम मानसून पूर्वोत्तर राज्यों तथा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ा

मानसून दक्षिण गुजरात क्षेत्र के साथ, महाराष्ट्र व् तेलंगाना के शेष भागों की ओर बढ़ा

एक चक्रवाती सर्कुलेशन उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है और मध्य क्षोभमंडल तक फैला हुआ है। इसके प्रभाव में अगले 24 घंटों के दौरान उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी और निकटवर्ती क्षेत्रों में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसके बाद के 24 घंटों के दौरान इसके और अधिक चिह्नित होने और पूरे ओडिशा में पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना है।

इसके प्रभाव में आज से पूर्वी भारत के अधिकांश भागों और मध्य भारत के निकटवर्ती भागों में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ काफी व्यापक वर्षा की संभावना है। 11 और 12 जून को ओडिशा में छिटपुट काफी भारी वर्षा (20 सेंटी मीटर) ; 11-13 जून के दौरान छत्तीसगढ़ में; 13 तारीख को पूर्वी मध्य प्रदेश में और 12 और 13 जून, 2021 को विदर्भ के ऊपर अत्यधिक भारी वर्षा की संभावना है।

ट्रेन से कटकर 6 लोगों की मृत्यु पर दुख प्रकट किया व् जांच के दिए निर्देश CM बघेल ने

दक्षिण-पश्चिम मानसून अगले 24 घंटों में अरब सागर,बंगाल की खाड़ी में आगे बढने की..
fail Foto

कम दबाव क्षेत्र के साथ पश्चिम तट के पास पश्चिमी हवाओं के मजबूत होने के कारण 10 से 15 जून के दौरान महाराष्ट्र के तटीय जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा के जारी रहने की संभावना है और 12 से 15 जून, 2021 के दौरान तटीय कर्नाटक में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा की संभावना है। 12 से 15 जून के दौरान केरल में छिटपुट भारी वर्षा होने की संभावना है। कोंकण में 12 से 15 जून के दौरान छिटपुट अत्यंत भारी वर्षा की संभावना है।

डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरिज ने DRDO की 2-डीजी दवा को सैशे में किया लांच

कम दबाव वाले क्षेत्र के पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर होने और इसके अवशेष के कारण 12 से 14 जून, 2021 के दौरान उत्तर-पश्चिम भारत (राजस्थान को छोड़कर) में छिटपुट भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा होने की संभावना है। 12 जून को उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भी भारी वर्षा की संभावना है ।

मानसून की शुरुआत से पहले मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, बंगाल, झारखंड और बिहार में अगले 2 दिनों के दौरान लगातार बादलों के साथ तेज आंधी-तूफान की संभावना है।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/