Home उत्तर प्रदेश 22 लाख नकदी सहित,सोने के जेवर के साथ दो अन्तर्राज्यीय शातिर चोर...

22 लाख नकदी सहित,सोने के जेवर के साथ दो अन्तर्राज्यीय शातिर चोर गिरफ्तार

आरोपी बड़े शहरों में जस्ट डायल इंटरनेट के माध्यम से बड़े घरों में करते थे

नोएडा-थाना सेक्टर 20 नोएडा पुलिस द्वारा दो अंतर राज्य शातिर चोर को गिरफ्तार किया है उसके पास से सेक्टर 19 नोएडा के पद्म भूषण से सम्मानित प्रसिद्ध मूर्तिकार के घर से चोरी हुई 22 लाख 65 हजार 349 रुपए,पद्मभूषण का पदक, एक स्वर्ण पदक के अलावा सोने के आभूषण विदेशी करेंसी सहित सिक्के बरामद किए गए हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन व् उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस ने शपथ ली

मिली जानकारी के अनुसार 17 मार्च को थाना सेक्टर 20 पुलिस द्वारा शातिर चोर मदन मोहन दास पिता करुणकर दास निवासी ग्राम माचड़ा खैरा सोरो उड़ीसा लोकेश पिता रामसूगरत निवासी ग्राम मजरोहीडी थाना देसरी जिला वैशाली बिहार द्वारा गुरुग्राम सेक्टर 24 हरियाणा से नोएडा सेक्टर के निवासी पदम भूषण से सम्मानित प्रसिद्ध मूर्तिकार के घर में चोरी हुए सामान जिसमें 22 लाख 65 हजार 339 रुपए एक पदम भूषण एक और पदक सोने के जेवरात और कीमती पत्थर को उसके पास से बरामद किया गया है।

25 प्रकरण की सुनवाई राज्य महिला आयोग के द्वारा की गई

22 लाख नकदी सहित सोने के जेवर के साथ दो अन्तर्राज्यीय शातिर चोर गिरफ्तार

भारत में बनी कोविड-19 वैक्सीन दुनिया के 71 देशों तक पहुंची

गिरफ्तार आरोपी चोरी करने के लिए दिल्ली राजधानी क्षेत्र व देश के विभिन्न बड़े शहरों में जस्ट डायल इंटरनेट के माध्यम से घरों में काम जैसे कूक आदि की नौकरी ढूंढ कर अच्छे घरों में नौकरी प्राप्त कर लेते हैं और मौका ही मिलते ही अपने अन्य साथी की मदद से घर में चोरी को अंजाम देकर सामान को ले जाकर दुसरे जगहों पर सामानों को बेचते थे। इस प्रकार से देश के कई हिस्सों में वारदात को अंजाम दिए हैं ।

51 करोड़ रुपये के फर्जी बिलों का कारोबार जयपुर में स्टेट GST एंटीइवेजन की कार्यवाही

वर्तमान में आरोपी मदन मोहन दास सेक्टर 19 नोएडा में अपने साथी लोकेश की मदद से प्रसिद्ध मूर्ति के घर जस्ट डायल के द्वारा कुक के रूप में नौकरी प्राप्त की थी । मौका लगते ही 9 मार्च को बड़ी मात्रा में रुपए और स्वर्ण आभूषणों के सामान को चोरी कर लिए। आरोपी हिंदी अंग्रेजी के अलावा उड़िया मराठी भोजपुरी व अन्य 10 से ज्यादा भारतीय भाषा को जानते हैं जिससे अच्छे घरों में उनको आसानी से नौकरी मिल जाती थी । आरोपी मदन मोहन दास व लोकेश की जान पहचान व दोस्ती हरियाणा के एक जेल में हुई थी जहां पर दोनों एक साथ सजा काट रहे थे।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

Translate »