Home देश होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति व पाठ्यक्रम पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार 24 जनवरी...

होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति व पाठ्यक्रम पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार 24 जनवरी से

सेमीनार का उद्देश्य नवीन शिक्षा नीति अंतर्गत क्षमता आधारित गतिशील पाठ्यक्रम, आधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी तकनीक से विद्यार्थियों को अवगत कराना है

52
0

Bhopaal :-होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति एवं पाठ्यक्रम पर देशभर के होम्योपैथी महाविद्यालयों के प्राचार्यों एवं चिकित्सकों का दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार 24 और 25 जनवरी को भोपाल में होने जा रहा है। राष्ट्रीय सेमीनार आयुष परिसर एमएसीटी हिल्स के शासकीय होम्योपैथी मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में होगा।

शैल चित्र व् गुफा चित्र राष्ट्रीय स्तर पर ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर है प्रसिद्ध

सेमीनार का उद्देश्य नवीन शिक्षा नीति अंतर्गत क्षमता आधारित गतिशील पाठ्यक्रम, आधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी तकनीक से विद्यार्थियों को अवगत कराना है। सेमीनार, राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग नई दिल्ली द्वारा किया जा रहा है। सेमीनार में देशभर के 250 से अधिक होम्योपैथी महाविद्यालयों के प्राचार्य और आयोग के पदाधिकारी विचार-विमर्श करेंगे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सचिव आयुष मंत्रालय केन्द्र सरकार वैद्य राजेश कोटेचा मौजूद रहेंगे।

गणतंत्र दिवस परेड मे 17 राज्‍य और केंद्रशासित प्रदेशों की 23 झांकियां होगी प्रदर्शित

सेमीनार की अध्यक्षता सलाहकार समिति के सदस्य डॉ. अशोक कुमार वार्ष्णेय करेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में संयुक्त सचिव आयुष मंत्रालय नई दिल्ली राहुल शर्मा, प्रमुख सचिव आयुष प्रतीक हजेला, आयुक्त आयुष सोनाली पोंक्षे वायंगणकर मौजूद रहेंगी। कार्यक्रम का शुभारंभ आयुष ऑडिटोरियम में 24 जनवरी को सुबह 10 बजे होगा।

सेमीनार के दूसरे दिन भी सुबह 10 से शाम 5 बजे तक चिकित्सा पद्धति के विकास पर विचार-विमर्श होगा। राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग द्वारा पहली बार केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के सहयोग से इस तरह का पहला दो दिवसीय सेमीनार भोपाल में किया जा रहा है।

हमसे  जुड़े :-

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »