उत्तर बस्तर कांकेर -किसानों द्वारा वास्तविक रूप से बोये गये धान के रकबा से ही धान की खरीदी करने के निर्देश शासन द्वारा दिए गए हैं, जिसके पालन में कलेक्टर  के.एल. चौहान द्वारा जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को पंजीकृत किसानों के धान के रकबा का सत्यापन करने के लिए निर्देशित किया गया था, लेकिन उक्त निर्देश का पालन नहीं करने पर दुर्गूकोंदल के नायब तहसीलदार लोमस कुमार मिरी को कलेक्टर  चौहान ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है तथा उनका मुख्यालय अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) चारामा नियत किया गया है। इस अवधि में उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

उल्लेखनीय है कि बस्तर संभाग के कमिश्नर  अमृत खलखो के साथ कलेक्टर  के.एल. चौहान नेे रविवार को दुर्गूकोंदल तहसील के धान उपार्जन केन्द्र चिखली का आकस्मिक निरीक्षण किया था, जिसमें नायब तहसीलदार  मिरी द्वारा पजीकृत किसानों के धान के रकबे का सत्यापन कार्य पूर्ण नहीं किया जाना पाया गया। उच्च अधिकारियों के निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण नायब तहसीलदार  मिरी को कलेक्टर द्वारा निलंबित किया गया है।

मनरेगा: 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराने छत्तीसगढ़ देश में 4th स्थान पर-

हमसे जुड़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here