Home क्राइम कर्ज में डूबे रहने के कारण करीब 8 लाख रुपए की चोरी...

कर्ज में डूबे रहने के कारण करीब 8 लाख रुपए की चोरी की लिखाई झूठी रिपोर्ट-पर्दाफाश

कर्ज में डूबे रहने व पैसों की लालच में घटना की दिया था अंजाम

महासमुंद-बसना शहर में हुई 7,94,000/- रुपए नगदी की हुई चोरी का 24 घंटे के अंदर पर्दाफाश घटना का प्रार्थी ही निकला घटना का मास्टरमाइंड आरोपी से चोरी की गई रकम पूरा बरामद कर्ज में डूबे रहने व पैसों की लालच में घटना की दिया था अंजाम बसना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादवि की धारा 380, 457,193,407के तहत् कार्यवाही की गई है। 

घटना का विवरण इस प्रकार है-

18 जुलाई को प्रार्थी तुफैन खान पिता मो. अनिस(27) वार्ड नं. 05 अम्बेडकर वार्ड बसना के द्वारा थाना बसना में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि 17.जुलाई को अपने भाई सबिर से दूसरे को देने के लिए 50, 100, 200, 500 रूपये के नोट का बंडल रकम कुल 7,94,000/- रूपये लाया था। रात को अपने घर कमरे के अलमारी में रखकर सो गया था कि सुबहः लगभग 06 बजे उठकर देखा तो अलमारी खुला था एवं घर का दरवाजा भी टुटा हुआ था उक्त नगदी रकम को कोई अज्ञात चोर घर का ताला तोड कर अन्दर घुस कर रात्रि में चोरी कर ले गया।

खंगाला गया सीसीटीवी फुटेज-

पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने घटना की गंभीरता को देखते हुये सायबर सेल एवं थाना बसना पुलिस की टीम को  निर्देशित किया। दोनों टीम को अलग-अलग दिशाओं में सीसीटीवी फुटेज एवं तकनीकि सहायता के मदद से अज्ञात आरोपी के बारे में जानकारी एकत्र करना शुरू किया। घर के सदस्य से पूछताछ करने का प्रारंभ किया गया।

तेलघानी बोर्ड का सौपा गया दायित्व को बखुबी पूर्वक करूँगा निर्वहन-संदीप साहू

 

कर्ज में डूबे रहने के कारण करीब 8 लाख रुपए की चोरी की लिखाई झूठी रिपोर्ट-पर्दाफाश

टीम प्रभारियों को छोटी सी छोटी जानकारी एकत्रित कर अज्ञात आरोपियों तक पहुचने हेतु हरसंभव प्रसाय किया व् मुखबीरों एवं तकनीकी सहायता के मदद् से आरोपी के बारे में पतासाजी की जा रही थी। इसी दौरान पता चला कि चोरी करने वाला व्यक्ति यही आस पास का है। तभी टीम द्वारा घर के आस पास 100 से 300 मी. के ऐरिया में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया

कर्ज से था परेशान

रात्रि करीबन 03.00 बजे प्रार्थी खुद दीवाल कुद कर भागते दिखा। इसके अलावा कोई घर के अन्दर आना जाना नही दिखा। पुलिस टीम को यह संदेह हुआ कि घटना प्रार्थी खुद किया हुआ है। जिसे टीम के द्वारा पूछताछ किया गया। पूछताछ में बताया कि मै ठेकेदारी का काम करता हूं ठेकेदारी के कर्ज से घिरा हुआ था और मनमीत सलूजा से उधारी में 5,00,000/- रूपये लिया था जिसका 2,50,000/- रुपए पटाया था तथा शेष रकम बचा था जो पैसा के लिए बार-बार बोलता था इसके अलावा लक्ष्मी इलेक्ट्रीकल्स से भी सामान लिया था जिसका करिबन 4,00,000/- रुपए था। कर्ज में डुबने के कारण मै पैसा की तलाश में था कर्ज से मै परेशान होकर उक्त चोरी की मनगढत कहानी द्वारा रचा गया है।

सड़क हादसे में हुई मौत पर जताया शोक,घायलों का हाल जानने पहुंचे अस्पताल-संसदीय सचिव

उक्त कार्यवाही पुलिस अधीक्षक महासमुन्द दिव्यांग कुमार पटेल के मार्गदर्शन में

अति0 पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर साहू एवं अनु0अधिकारी(पु) सरायपाली

विकास पाटले के निर्देशन में थाना प्रभारी बसना निरीक्षक लेख राम ठाकुर

सायबर सेल महासमुन्द प्रभारी संजय सिंह राजपूत, विजय मिश्रा, प्रकाश नंद,

रवि यादव, ललित यादव, त्रीनाथ प्रधान, संदीप भोई, युगल पटेल, हेमन्त नायक,

योगेन्द्र दुबे, कामता आवडे,हरि साहू के द्वारा की गई है।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/