महासमुंद :नशा-उन्मूलन के लिए अग्रणी जिलों में से एक महासमुंद, जहां बागबाहरा के ग्राम घुचापाली में भारतीय स्काउट गाइड कैंप आयोजित हुआ। बच्चों में कर्तव्यनिष्ठा का बीज बोने वाले इस कार्यक्रम में विभिन्न आयोजनों के जरिए जागरूकता लाने का प्रयास किया गया। आयोजकों ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एसपी वारे से अनुमति लेकर वृहद स्तर पर स्वास्थ्य कार्यशाला का आयोजन भी किया। जिसमें 22 जिलों के करीब ढ़ाई सौ से अधिक कैडेड्स शामिल हुए। जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार के मार्गदर्शन में जिला सलाहकार अदीबा बट्ट एवं शासकीय सामाजिक कार्यकर्ता असीम श्रीवास्तव के संयुक्त दल ने तंबाकू नशे के कारण, होने वाले नुकसान और इनसे निजाद पाने के तरीके बतलाते हुए नशा छोड़ने व नशा छुड़वा कर नशा मुक्त समाज बनाने की शपथ दिलाई.

यहाँ पढ़े : 17 दिसम्बर को ग्राम पंचायतों में विशेष ग्राम सभाओं का होगा आयोजन-

इस दौरान राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ छत्रपाल चंद्राकर भी उपस्थित रहे जिन्होंने मनोरंजनात्मक ढंग से बच्चों की क्लास ली। अलग-अलग 04 दल बना कर, पक्षियों की आवाज निकालने वाले खेल खिलाए और जीवन में निश्चित सीमा में तनाव की आवश्यकता व प्रभाव के महत्व को सरल तरीके से परिभाषित किया। साथ ही अभियान नवजीवन के तहत तनाव के बढ़ जाने की स्थिति में नियंत्रण बना कर तनाव को उपयोगी बनाने के विषय पर अहम जानकारी दी गई.

इस दौरान स्काउट गाइड्स का प्रतिनिधित्व कर रहे उपस्थित जिलों में क्रमशः महासमुंद, सरगुजा, गरियाबंद, मुंगेली, बलौदाबाजार, जांजगीर-चांपा, बेमेतरा, बलरामपुर, बीजापुर, बस्तर, खैरागढ़, राजनांदगांव, बालोद, रायपुर, कांकेर सहित कुल 22 जिलों के स्काउट गाइड्ज सहित उनके रेंजर लीडर्स ने भाग लिया। आयोजन में टीआई दीपा केंवट, पुलिस बाल मित्र  रोशना डेविड,  अन्नू भोई, नवजीवन प्रेरक अनुजा छत्तर सहित स्वास्थ्य विभाग से केस रजिस्ट्री गौतम यादव एवं योग प्रशिक्षक देव कुमार डडसेना उपस्थित थे। स्काउट गाइड्स लीडर्स के प्रमुख  मयूख श्रीवास्तव का योगदान उल्लेखनीय रहा.

हमसे जुड़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here