Home क्राइम पुलिस बनकर डकैती करने वाले 06 डकैत 24 घंटे में किए गए...

पुलिस बनकर डकैती करने वाले 06 डकैत 24 घंटे में किए गए गिरफ्तार

आरोपियों के पास से लुट की रकम 5 लाख 90 हजार रुपए भी बरामद

Mahasamund:- नेशनल हाइवे 353 में पुलिस बनकर डकैती करने वाले 06 डकैत को पुलिस ने 24 घंटे में गिरफ्तार किया है ।आरोपियों के पास से लुट की रकम 5 लाख 90 हजार रुपए भी बरामद किया है, इस घटना का मास्टर माइंड विजय वाच रायपुर का पुराना कर्मचारी निकला जिसे थी सारी गतिविधियों की जानकारी थी ।

कार्यालय पुलिस अधीक्षक से मिली जानकारी के अनुसार विजय वाॅच रायपुर में मार्केटिंग का काम करने वाला लक्ष्मीनारायण देवांगन पिता भोलाराम देवांगन(48) निवासी सेमलिया रायपुर 13 जून को मारूती क्रमांक CG04 HA 8762 में चालक संतोष साहु के साथ राजिम, गरियाबंद, देवभोग, भवानीपटनम्, बरगढ, बलांगीर से कलेक्शन व मार्केटिंग करते हुये 22.जून को खरियार रोड में मार्केटिंग व सेल्स कलेक्शन का काम कर कलेक्शन का रकम लगभग 8,92,000/- रूपये लेकर 11 बजे बागबाहारा से रायपुर जाने के लिए निकले।

जुआ फड़ में पुलिस का छापा 6 जुआरियों के पास से मिले 2,03,310 रूपए 

पुलिस बनकर डैकती करने वाले 06 डकैत 24 घंटे में किए गए गिरफ्तार

दोपहर करीबन 02.45 बजे भीमखोज एवं एम के बाहरा एनएच-353 रोड के बीच में पहुचे थे कि पीछे-पीछे बागबाहरा की ओर से आ रही एक सफेद रंग की बिना नंबर बोलेरो गाडी ओवरटेक करते हुये आगे खडी कर उनकी  गाडी को रोके। बोलेरो गाडी में से 03 लोग नीचे उतरे जिन्होंने अपना चेहरा गमछा से ढका हुआ था अपने आप को पुलिस वाले बताये और बोले कि तुम लोग गांजा लेकर जा हरे हो तुम्हारी गाडी चेक करना है।

लक्ष्मीनारायण देवांगन व् ड्रायवर संतोष साहू को अपनी गाडी बोलेरो में जबरदस्ती बैठायें व्  बैग जिसमें 8,92,000/- रूपये रखे थे को अपने पास रखकर दोनो को ग्राम जामली रास्ते अंदर जंगल में थोडी दुर ले जाकर हमारे हांथ को पीछे टेप से बांध कर व हमारे मोबाईल के सीम को निकालकर तोड दिये और मोबाईल फोन को हम लोगो के जेब में छोड दिये। उक्त घटना की जानकारी खल्लारी थाना में दर्ज कराई गई।

घटना की सूचना मिलने उपरांत पुलिस महानिरीक्षक ओपी पाल द्वारा घटना की गंभीरता को देखते हुये तत्काल पुलिस अधीक्षक महासमुन्द विवेक शुक्ला को अपने निर्देशन में सायबर सेल महासमुन्द एवं थाना खल्लारी टीम को आरोपी की पता तलाश करने हेतु निर्देशित किया गया।

पुलिस टीम द्वारा उक्त बोलेरो वाहन के संबंध में पतासाजी करने पर पता चला कि उक्त वाहन बोलेरो जिसका नम्बर CG 04 LP 3599 था । उक्त संदिग्ध वाहन की पता तलाश कर ज्ञात हुआ कि यह वह वाहन भिलाई स्टील प्लाॅंट में प्राईवेट ड्रायवर सुरेश कौशल चलाता है जिस पर से सुरेश कौशल का पता तलाश कर उसे हिरासत में लिया गया और घटना के दिन और संबंध में कडाई से पूछताछ करने पर बताया कि रायपुर का रहने वाला मनोज करवाडे उक्त लूट का मास्टर माईड है।

साला ने जीजा के घर डकैती करने की बनाई योजना 05 पुलिस की गिरफ्त में एक फरार 

पुलिस बनकर डैकती करने वाले 06 डकैत 24 घंटे में किए गए गिरफ्तार

टीम को मनोज करवडे ने पूछताछ पर बताया कि वह बहुत दिनों से आर्थिक तंगी से गुजर रहा था और एक पैर से विंकलांग होने कारण सही ढंग से काम भी नही कर पा रहा था। तभी उसने अपने साथ पूर्व में काम करने वाले लक्ष्मीनारायण देवांगन के बारे में जानकारी लिया और उसे पता चला कि वह ओडिशा गया है 22 जून को खरियार रोड ओडिशा से महासमुन्द होते हुये कलेक्शन कर पैसा लेकर रायपुर आने वाला है तभी उसने डैकेती करने की योजना बनाया और अपने अन्य मित्र को शामिल कर डकैती को अंजाम दिया।

इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों के नाम इस तरह से है :-

(01.) मनोज करवाड़े पिता निवास करवाड़े(49) भाटा गांव ब्रह्म कॉलोनी थाना पुरानी बस्ती रायपुर
(02.) दर्शन दास मानिकपुरी पिता पुणे दास मानिकपुरी (22) खुर्सीपार जोन 2 सेक्टर 11
(03.) अभिषेक कुमार उर्फ सनी महार पिता राजेंद्र महाराज (21) शास्त्री नगर जोन 2 खुर्सीपार हाई स्कूल के पास
(04.) राजेश सोनी पिता बाढ़हू सोनी(30) भिलाई 3 चरौदा थाना भिलाई 3
(05.) संजय यादव पिता द्वारिका यादव(28  जोन 2 सेक्टर खुर्सीपार भिलाई
(06.) सुरेश कौशल पिता स्वर्गीय गोरख राम कौशल जाति महार (41) जोन 3 कुर्सी पर कौशल नगर

केवड़िया में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया खेल मंत्री अनुराग सिंह ने

उक्त कार्यवाही पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला के निर्देशन में अति. पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर साहू एवं

अनु.अधिकारी (पु) महासमुन्द कल्पना वर्मा व अनु.अधिकारी (पु) बागबाहरा कपिल चन्द्रा के मार्गदर्शन में

थाना प्रभारी खल्लारी निरीक्षक अशोक वैष्णव, सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत,

स्वराज त्रिपाठी, प्रवीण शुक्ला, ललित चन्द्र, तीर्थराज गुनेन्द्र , मिनेश धु्रव ,

सतीश पाण्डेय, शशि साहू ,रवि यादव, चम्पलेश सिंह ठाकुर, शुभम पाण्डेय, विरेन्द्र नेताम,

पवन ठाकुर, शंकर ठाकुर, महेश साहू, अभिषेक सिंह, ठाकुर राम पटेल, हेमन्त नायक,

देव कोसरिया, गोविंद बेहरा एवं थाना खल्लारी पुलिस की टीम के द्वारा की गई है।

हमसे जुड़े :-

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

 

भाषा बदले »