Home छत्तीसगढ़ पढ़ना-लिखना अभियान: असाक्षरों को साक्षर बनाने जिलावार लक्ष्य निर्धारित-

पढ़ना-लिखना अभियान: असाक्षरों को साक्षर बनाने जिलावार लक्ष्य निर्धारित-

0
11
education

रायपुर:छत्तीसगढ़ राज्य में ‘पढ़ना-लिखना अभियान’ इस वर्ष से स्वीकृत किया गया है। अभियान के अंतर्गत प्रदेश के 15 वर्ष से अधिक आयु के असाक्षरों को बुनियादी साक्षरता प्रदान की जाएगी। असाक्षरों को अनुदेशक स्वयंसेवी भावना से निःशुल्क पढ़ाएंगे। प्रदेश में इस वर्ष 2020-21 में ढ़ाई लाख असाक्षरों को साक्षर किया जाना है। इसके लिए जिलेवार लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

 प्रदेश स्तर पर एक लाख 87 हजार 500 असाक्षर महिला और 62 हजार 500 असाक्षर पुरूषों को साक्षर करने का लक्ष्य है। राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के संचालक एवं सदस्य सचिव  डी. राहुल वेंकट ने सभी जिला कलेक्टरों, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत और जिला शिक्षा अधिकारियों को पढ़ना-लिखना अभियान की मार्गदर्शिका अनुसार समय-सीमा को ध्यान में रखकर विशेष रणनीति निर्धारित कर असाक्षरों को साक्षर करने के निर्देश दिए हैं.

पढ़ना-लिखना अभियान के अंतर्गत निर्धारित किए गए लक्ष्य में से जिला सरगुजा, जशपुर, बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, रायपुर, महासमुंद, राजनांदगांव, बस्तर, दंतेवाड़ा और कांकेर के लिए 10-10 हजार का लक्ष्य रखा गया है। जिला बलरामपुर, सूरजपुर, कोरिया, जांजगीर-चांपा, कोण्डागांव, बीजापुर और सुकमा के लिए 9-9 हजार लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिला मुंगेली, गरियाबंद, बलौदाबाजार, धमतरी, बालोद, बेमेतरा के लिए 8-8 हजार और जिला नारायणपुर के लिए 6 हजार असाक्षरों को साक्षर करने का लक्ष्य है. 

हमसे जुड़े :–dailynewsservices.com