Home छत्तीसगढ़ साहित्यिक गोष्ठी में साहित्यकारों ने किया अपनी प्रतिनिधि रचनाओं का पाठ

साहित्यिक गोष्ठी में साहित्यकारों ने किया अपनी प्रतिनिधि रचनाओं का पाठ

देर शाम तक काव्यगंगा बहती रही

महासमुंद-डा.चितरंजन कर और वरिष्ठ साहित्यकार बलदाऊ राम साहु के नगर आगमन गजलकार अशोक शर्मा के निवास सोहन-स्नेह में एक साहित्यिक गोष्ठी का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम में महासमुंद के अधिकांश साहित्यकार उपस्थित हुए । इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डां.चितरंजन कर अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार ईश्वर शर्मा  ने किया जबकि विशेष अतिथि के रूप में बाल गीतकार बीआर साहू उपस्थित थे।

आज उपस्थित साहित्यकारो ने अपनी प्रतिनिधि रचनाओं का पाठ किया । आज के कार्यक्रम में महेश राजा ने लघुकथा पाठ किया।तत्पश्चात मनोज उपाध्याय मतिहीन,भागवत जगत भूमिल, चंद्र सेन, सलीम कुरैशी, प्रलय थिटे,डा.अनसुईया अग्रवाल,अशोक चोरडिया, डा.बंधु राजेश्वर खरे, अशोक शर्मा ,सीमा प्रधान एवम हुकुम शर्मा ने अपनी उत्कृष्ट रचनाएं सुनायी।

तुम कब आजाद होओगे,तिरंगा, खरी-खरी, परिंदे :-महेश राजा की लघु कथा

साहित्यिक गोष्ठी में साहित्यकारो ने किया अपनी प्रतिनिधि रचनाओं का पाठ

चित्तौड़गढ़ का ‘’मेनाल’’बना मानसून डेस्टिनेशन,पर्यटन स्थलों की हुई Video शूटिंग

कार्यक्रम में आगे वरिष्ठ व्यंग्यकार ईश्वर शर्मा ने अपनी अद्भुत शैली में”जनरल प्रमोशन”रचना पढ़ी। बलदाऊ साहु ने छत्तीसगढ़ी गजल और रक्षा बंधन पर रचना पढ़ी। प्रसिद्ध भाषाविद डा.चितरंजन कर ने नदियों ने नाम नहीं बदला और बँटवारे पर शानदार कविताएं चली। देर शाम तक काव्यगंगा बहती रही।सुंदर और सफल आयोजन का संचालन गजलकार  अशोक शर्मा ने विशिष्ट शैली में किया।

इस कार्यक्रम में वरिष्ठ प्रोफेसर अब्दुल करीम,भाई विजय श्रीवास्तव राजिम

और पंडित कृष्ण कुमार पांडेय की विशिष्ट उपस्थिति रही।

साहित्यिक गोष्ठी में आभार प्रदर्शन के बाद यह कार्यक्रम समाप्त हुआ।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

Translate »