Home छत्तीसगढ़ पाँच सूत्रीय मांगो की पूर्ति को लेकर संसदीय सचिव शकुन्तला से मुलाक़ात

पाँच सूत्रीय मांगो की पूर्ति को लेकर संसदीय सचिव शकुन्तला से मुलाक़ात

हमाली राशि विगत 15 वर्ष के हिसाब से मिल रही है

खल्लारी-पाँच सूत्रीय मांगो की पूर्ति को लेकर ग्रामीण क़ृषि साख सहकारी समिति चरौदा (बांध) के प्रबंधक व सहकारी कर्मचारी महासंघ के बागबाहरा ब्लाॅक अध्यक्ष जयप्रकाश साहू ने संसदीय सचिव एवं कसडोल विधायक शकुन्तला से की मुलाक़ात की।

उल्लेखनीय है कि इस दौरान पाँच सूत्रीय मांग को लेकर प्रदेश मे सहकारी कर्मचारी महासंघ रायपुर के 2058 समितियों के लगभग 10000 कर्मचारी ने 18 जुलाई से काली पट्टी लगाकर शासन के नीतियों के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन किया और अब समितियों मे कर्मचारियों द्वारा सद्बुद्धि यज्ञ किया जा रहा है।

CM चौहान ने नई दिल्ली में रक्षा व केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री से की मुलाकात

पाँच सूत्रीय मांगो की पूर्ति को लेकर संसदीय सचिव शकुन्तला से मुलाक़ात

प्रदेश सहकारी संघ के मांगो मे धान खरीदी मे आई सुखत की कटौती राशि वापस हेतु, 2018 सेवा नियम मे आवश्यक सुधार वेतन अनुदान हेतु मांग, बैंको मे केडर प्रबंधको की 100%नियुक्ति समितियों से करने हेतु मांग, समर्थन मूल्य धान खरीदी धान खरीदी वर्ष 2021- 22 हेतु खरीदी नीतियों मे विपणन संघ जिला सहकारी बैंक एवं समितियों के बीच आवश्यक संसोधन की मांग की गई है। संघ द्वारा जारी ज्ञापन अनुसार कर्मचारी 24जुलाई से शासन के द्वारा आवश्यक पहल नहीं होने की स्थिति मे ईदगाह भाटा अथवा बूढा तालाब रायपुर मे बेमियादी हड़ताल में प्रदेश के समस्त कर्मचारी शामिल होंगे।

राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता के पदक विजेता खिलाडी खेल मंत्री से की मुलाकात

पाँच सूत्रीय मांगो की पूर्ति को लेकर संसदीय सचिव शकुन्तला से मुलाक़ात

जिसका सीधा असर किसान न्याय योजना, प्रधानमंत्री फसलबीमा की महत्वपूर्ण योजना 0%पर ऋण वितरण, माइक्रो एटीएम से लेन देन, खाद बीज दवाई की किसानों को उपलब्धता, मुफ्त मे अनाज की की बिक्री प्रभावित होंगी । मांगो के मुताबिक़ सरकार की धान खरीदी नीति मे आमूल चूल परिवर्तन की आवश्यकता है ।

बंदियों ने बनाया ‘आउट ऑफ द बॉक्स‘ बैंड पार्टी,उदयपुर में है इसकी अच्छी मांग

वर्तमान अनुबंध 72 घंटे मे धान का उठाव करने का है पर विपणन संघ की अदूरदर्शिता के

चलते समितियां घाटे मे जा रही है। समितियों को मिलने वाली वाली सुरक्षा ब्यय

की राशि हमाली राशि विगत 15 वर्ष के दाम पर प्राप्त हो रही है जिसका

खामियाजा समितियों को भुगतना पड़ रहा है। महासंघ के आह्वान पर

जिले के 132 समितियों के लगभग 700 कर्मचारी हड़ताल पर जाने स्वस्फूर्त तैयार है।