Home छत्तीसगढ़ माता का जसगीत गाते भक्तों ने किया ज्योत-जंवारा विसर्जन

माता का जसगीत गाते भक्तों ने किया ज्योत-जंवारा विसर्जन

0
42
Jyot-Jawara-1

पिथौरा- नवमी के साथ ही नौ दिनों तक चलने वाले क्वांर नवरात्रि का समापन रविवार को हो गया। अंतिम दिन भक्तों ने श्रद्धापूर्वक माता का जसगान करते हुए ज्योत-जंवारा का विसर्जन किया। इस दौरान नगर सहित क्षेत्र के देवी मंदिरोंं को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। मंदिरोंं में घी व तेल के ज्योत जलाए गए थे। मंदिरों में नवरात्र शुरू होते ही जंवारा बोया गया था।

नौ दिनों तक भक्तों ने श्रद्धा व आस्था के साथ पारंपरिक ढंग से देवी मंदिरो में पूजा आराधना की। साथ ही इस दौरान रोज जस गीत का आयोजन भी किया गया। 24 अक्टूबर को अष्टमी होने से मंदिरो में देर शाम तक हवन का कार्यक्रम चलता रहा। रविवार को नवरात्रि के समापन अर्थात नवमी के दिन मंदिरों में लगाए गए ज्योत जंवारा को माता के भक्तों ने विसर्जन करने के लिए पूरे भक्ति भाव से ले गए।

मुख्यमंत्री बघेल ने वेबिनार से ‘रामरस‘ पुस्तक का किया विमोचन

Jyot-Jawara

सीजनल इन्फ्लूएन्जा H-1 N-1 के उपचार एवं रोकथाम के लिए दिशा-निर्देश जारी

नगर की यह परंपरा है की जब भी माता के भक्त मंदार की थाप के साथ जंवारा को लेकर सड़क व गलियों से गुजरते है तो लोग सहसा ही निकलकर देवी के रूप में ज्योत को लेकर चल रहे भक्तों के स्वागत सत्कार करने लगते हैं। नगर का माहौल आज भक्तिमय रहा जहां लोग नवमी के अवसर पर एक दूसरे को शुभकामनाएं देते दिखें। वहीं देवी भक्तो का जंवारा विसर्जन के प्रति आस्था देखते ही बनती थी।

पिथौरा में डकैती का प्रयास करने वाला मास्टर माईंड़ निकला मैकेनिकल इंजीनियर

हमसे जुड़े :–dailynewsservices.com