महासमुन्द :राज्य शासन के निर्णयानुसार आदिम जनजाति त्यौहार एवं पारम्पिक नृत्य शैलियों के प्रस्तुतिकरण एवं प्रचार-प्रसार के लिए ट्राईबल डांस फेस्टिवल छत्तीसगढ़ 2019 का आज यहां बागबाहरा स्थित पी्र-मेट्रिक बालक छात्रावास में आयोजन किया गया। आयोजित इस ट्राईबल डांस फेस्टिवल में 06 नर्तक दलों द्वारा पंजीयन कराया गया, इसमें से दो नर्तक दलों द्वारा नृत्य प्रस्तुत किया गया.

यहाँ पढ़े:महासमुंद युवाओ के लिए स्वरोजगार हेतु सुनहरा मौका जानिए कौन से फिल्ड में

ट्राईबल डांस फेस्टिवल का शुभारंभ जनपद सदस्य सियाराम साहू के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस प्रकार के ट्राईबल डांस फेस्टिवल का आयोजन विकासखण्ड सहित ग्रामीण क्षेत्र में स्थित छत्तीसगढ़ी लोक कला एवं पारंपरिक नृत्य कला में रूचि रखने वाले कलाकारों को अपनी प्रतिभा निखारने और उसे उजागर करने का एक अच्छा अवसर एवं उपयुक्त मंच प्रदान कर रहा है.

यहाँ पढ़े :ट्रक और ऑटो की टक्कर से 3 बच्चों सहित 5 लोगों की हुई मौत

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी बागबाहरा  एम.आर.यदु, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी  नीतिन लहरे, बीआरसी  केवल टंडन, प्राचार्य एस.एस.ठाकुर सहित छात्रावास अधीक्षक एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का उद्घाटन  सियाराम साहू ने मां सरस्वती की छाया चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। ट्राईबल डांस फेस्टिवल में प्रथम स्थान ज्ञान गंगा सुआ समिति धौराभाठा एवं द्वितीय स्थान पर आदिवासी सुआ नृत्य मण्डली रहे। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले नर्तक दलों को प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here