महासमुंद-महाकवि कालिदास जयंती गुरुकुल आश्रम कोसरंगी में मनाया गया, पूज्य स्वामी धर्मानंद जी संस्कृत बोर्ड के सचिव सुरेश शर्मा जी सहायक संचालक लक्ष्मण साहू उदय राम साहू प्राध्यापक संस्कृत राजकुमार गुप्ता चमनलाल साहू भोरिग उपस्थित रहे।

https;गुग्गल ने बर्लिन की दीवार टूटने की 30 वी वर्षगांठ को किया याद

गुरुकुल आश्रम व महर्षि दयानंद संस्कृत कॉलेज के छात्र, अध्यापक की उपस्थिति में स्वामीजी ने विद्वान कालीदास कैसे महाराजा विक्रमादित्य के नौ रत्नों में सुमार हुए इस विषय पर विशद वर्णन किया। आचार्य कोमल जी मे विद्योत्तमा ने कालिदास को संस्कृतज्ञ बनाने के लिए प्रयत्न किए उस पर प्रकाश डाला.

https;विधायक द्वारा सामुदायिक भवन लोकार्पित

https;राज्य स्तरीय क्रिकेट प्रतियोगिता का भव्य शुभारम्भ –

बोर्ड के सचिव डॉ सुरेश शर्मा संस्कृत भाषा मे कालिदास के विभिन्न कृतियों के बारे में अवगत कराते हुए गुरुकुल आश्रम कोसरंगी द्वारा संस्कृत भाषा के लिए किये जा रहे पुरुषार्थ को आगामी समय के लिए श्रेष्ठ बताया ।

https;-जिले के तीन शिक्षकों को ज्ञानदीप, 15 को मिला शिक्षादूत पुरस्कार-

कार्यक्रम का संचालन बोर्ड के संचालक डॉ लक्ष्मण प्रसाद साहू ने किया ।गुरुकुल के छात्रों ने स्वागत गीत और कालिदासो जने जने कंठे कंठे संस्कृतम गीत को वाद्य यंत्र से गाकर सुंदर स्वर दिया ।छात्रों द्वारा कालिदास की कृति रघुवंश के श्लोकों का भी वाचन किया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here