बागबाहरा-दुनिया भर से बच्चों की सेहत का काम करने वाली संस्था यूनिसेफ, इसकी ओर से जिलाध्यक्ष  आस्था अनुरागी ने शिक्षिकाओं की उपस्थिति में बालिकाओं को सम्बोधित किया और उन्हें पानी पीने के महत्व को विस्तार से बताया ,यदि आप कम पानी पीते हैं तो इससे आपके शरीर में कई नुकसान हो सकते है.डिहाइड्रेशन की संभावना बढ़ जाती है.

सुनसुनिया कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राओं को बताया पानी पीने के पांच नियम – पहला खड़े होकर नही बैठ कर पियें,दूसरा एक बार मे नहीं थोड़ा थोड़ा पिएँ,तीसरा खाने के एक दम पहले और बाद में पानी न पिएं,चौथा ऊपर से पानी न पिएं,चुस्कियाँ लेते हुए पिये,पांचवां- ठंडा नही रूम टेम्परेचर वाला पानी पिएं.उन्होंने कहा अच्छी सेहत के लिए काम से कम दिन भर में 8-9 गिलास पानी पीना ज़रूरी है।

गर्म भोजन,फल जैसे- ककड़ी,खीरा, तरबूज व खरबूजा खाने के बाद नही पीना चाहिए पानी। एक्सरसाइज करने के तुरंत बाद भी पानी नही पीना चाहिए।चाय अथवा दूध पीने के बाद भी पानी पीना सेहत के लिए हानिकारक है।रोज़ाना खाली पेट पानी पीने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है।अगर आप सुस्त महसूस कर रहे हैं तो पियें पानी.सोने जाने से पहले पानी पीने की आदत अच्छी है ,इससे हार्ट अटैक होने का खतरा कम होता है।

छात्राओं को मासिक धर्म के दौरान कुछ सावधानियां साफ सफाई का ध्यान रखे 2 रोज नहाये व कपड़े ज़रूर बदले।सैनेटरी पेड़ का इस्तेमाल ज़रूर करे,खानपान में बदलाव न करे. पीरियड्स के दौरान आप हर तीन घंटे में सैनेटरी नेपकिन बदलती रहें.दुर्गन्ध की समस्या नही रहेगी.इस दौरान बहुत तंग कपड़े पहनना सही नही है वरना चिड़चिड़ापन होने की संभावना बढ़ जाती है. छात्राओं को हाथ धोने को लेकर स्वच्छता के बारे में जागरूक किया गया.इसमें सुबह की प्राथना में साफ कपड़े पहन कर आने,नाखून काटने,दांत साफ करने,व स्नान कर आने के बारे समझाया गया.शौचालय व मूत्रालय की स्वच्छता व विद्यालय भवन का रखरखाव की जानकारी दी गई.

हमसे जुड़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here