अर्जुनी सोसाइटी में अनुपस्थित 7 कर्मचारियों का वेतन काटने के निर्देश

बलौदाबाजार: कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने आज जिले की तीन सोसायटियों – अर्जुनी, खोखली और तरेंगा का आकस्मिक दौरा कर धान खरीदी के लिए की जा रही तैयारियों का जायज़ा लिया। उन्होंने इस दौरान बोये गए धान फसल के वास्तविक रकबे का सत्यापन किया। उन्होंने कहा कि 21 अक्टूबर तक सम्पूर्ण डेटा का सत्यापन कर ऑनलाइन एंट्री करना है। इसलिए यह काम प्राथमिकता से समय-सीमा में पूर्ण किया जाए। उन्होंने अर्जुनी सोसाइटी में अनुपस्थित 7 कर्मचारियों के एक दिन का तनख्वाह काटने के निर्देश दिए। अपर कलेक्टर  जोगेंद्र नायक सहित धान खरीदी से जुड़े तमाम बड़े अफ़सर इस अवसर पर उपस्थित थे।

कलेक्टर  गोयल ने कहा कि किसानों से धान खरीदी का काम राज्य सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता में है। लगभग ढाई महीने तक इस साल 15 नवम्बर से लेकर अगले साल 31 जनवरी तक यह अभियान चलेगा। जिले में राज्य शासन की कार्य-योजना के अनुरूप तमाम तैयारियां चल रही हैं। 86 सोसाइटियों के 149 खरीदी केन्द्रों पर धान खरीद जाएगा। फिलहाल किसानों के पंजीयन और गिरदावरी से हासिल रकबा मिलान का काम युद्धगति से जारी है। इस साल पंजीयन में रकबे के साथ-साथ खसरा नम्बर का उल्लेख भी किया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि धान का खरीदी मूल्य 2500 रुपये प्रति क्विन्टल हो जाने से कुछ गैर किसान भी अवैध तरीकों का सहारा लेकर पंजीयन के लिए आ सकते हैं। इसलिए हमें सावधान रहना होगा और किसी भी हालत में हमें ऐसे तत्वों से बचना है.

कलेक्टर ने कहा कि अतिक्रमित भूमि, भू-अर्ज़न और रास्तों पर बोये गए धान फसलों का बिक्री के लिए पंजीयन नहीं किया जाएगा। उन्होंने राजस्व पटवारी और सहकारी समितियों के प्रबंधकों को आपसी तालमेल के साथ सरकार के इस बड़े काम को पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कुछ किसानों के रकबे का विभिन्न अभिलेखों से मिलान भी किया। उन्होंने खोखली में खाद-बीज गोदाम का निरीक्षण भी किया और उचित तरीके से भण्डारित करने के निर्देश दिए। अर्जुनी सोसाइटी में साफ-सफाई और रिकार्डों का समुचित रख-रखाव नहीं था। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए भविष्य में सुधारने की हिदायत दी। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर अरविंद पाण्डे, डिप्टी कलेक्टर एवं खाद्य शाखा के प्रभारी राकेश गोलछा, सहकारी बैंक के नोडल अफसर  एल.साहू, एसडीएम लवीना पांडे और महेश राजपूत भी दौरे में साथ थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here