Home छत्तीसगढ़ निर्माणाधीन हेचरी फ़ार्म पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण हुए लामबंद,सौपा ज्ञापन...

निर्माणाधीन हेचरी फ़ार्म पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण हुए लामबंद,सौपा ज्ञापन कलेक्टर को

तीन दिवस के भीतर कोई कार्यवाही नहीं होने पर समस्त ग्रामवासी एनएच 353 में चक्का जाम जैसा उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे

महासमुंद-बागबाहरा विकासखंड के ग्राम पंचायत पचेडा के ग्रामवासी आबादी क्षेत्र के नजदीक 40 एकड़ जमीन में बन रहे हेचरी फ़ार्म निर्माण के लिए जारी एनओसी को निरस्त कर निर्माण कार्य को बंद करने के लिए कलेक्टर के प्रतिनिधि के तौर पर अपर कलेक्टर सीमा बंसल को ज्ञापन सौपा है ।

सौंपा गए ज्ञापन में लेख है कि ग्राम पचेड़ा के आबादी क्षेत्र हायर सेकेंडरी स्कूल पचेड़ा ग्राम पंचायत मामा भाचा से क्रमशः  500-500 मीटर से भी कम दूरी पर लगभग 40-50 एकड़ जमीन पर विहार हैचरी फार्म का निर्माण हेतु कार्य प्रगति पर है।

नगर में खुलेआम चल रहे नशे के कारोबार को लेकर भाजयुमो ने SP को सौपा ज्ञापन

निर्माणाधीन हैचरी फार्म पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण हुए लामबंद,सौपा ज्ञापन

ग्राम पंचायत पचेड़ा के पदाधिकारियों द्वारा गुप्त एवं अनाधिकृत रूप से एनओसी सरीन हैचरी फार्म के लिए जारी किया गया है इस पर ग्राम वासियों को पूर्णता आपत्ति है जो निरस्त करने योग्य है । उक्त हेचरी फ़ार्म के बनने से ग्राम पचेड़ा व मामा भाचा के ग्रामीणों में प्रदूषण व बदबू के कारण विभिन्न प्रकार के आक्रामक बीमारी होने का खतरा है ।

बाढ़ से ग्रामीण को सकुशल बाहर निकालने वाला नगर सैनिक रमेश हुए सम्मानित

हेचरी फ़ार्म निर्माण के लिए जारी एनओसी को निरस्त कर निर्माण कार्य को बंद करने के लिए कलेक्टर के प्रतिनिधि के तौर पर अपर कलेक्टर सीमा बंसल को ज्ञापन सौपा है

निर्माणाधीन हेचरी फ़ार्म के किनारे दोनों और गांव में आने जाने का मुख्य मार्ग है,मामा भाचा के स्कुलीय बच्चे इसी मार्ग से स्कूल आते जाते हैं।  मुर्गियों में होने वाली संक्रामक बीमारी से छात्रों व राहगीरों को परेशानी होगी साथ ही उक्त निर्माणाधीन जगह की पानी बहकर निस्तारित तालाब में प्रवाहित होती है इससे भविष्य में तालाब का पानी पूरी तरह से होगा ।

गुरु दक्षिणा,ये मोह मोह के धागे,पुरस्कार,व्यंजनों का मजा- महेश राजा की लघु कथा

ग्रामीणों का इस संबंध में कहना है कि पूर्व में 13 अप्रैल को आवेदन के द्वारा आपको

अवगत कराया था परंतु उस संबंध में कोई ठोस कार्रवाई नहीं किया गया है ग्रामीणों ने

आवेदन में कहां है कि तीन दिवस के भीतर कोई कार्यवाही नहीं होने पर समस्त ग्रामवासी

एनएच 353 में चक्का जाम जैसा उग्र आंदोलन करने के

लिए बाध्य होंगे जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन होगी।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

Translate »