Home छत्तीसगढ़ 10 सितम्बर को विघ्नहर्ता घर-घर, चौक-चौराहे व् सार्वजनिक पंडालों में विराजेगें

10 सितम्बर को विघ्नहर्ता घर-घर, चौक-चौराहे व् सार्वजनिक पंडालों में विराजेगें

मुर्तिकार विघ्नहर्ता की प्रतिमा को अंतिम आकार देने में लगे है

खल्लारी- शुक्रवार 10 सितम्बर को विघ्नहर्ता घर-घर , चौक-चौराहे, सार्वजनिक पंडालों में विराजेगें। लिहाजा अभी से लम्बोदर महराज के विराजने की तैयारीयां शुरू हो गई है। मुर्तिकार विघ्नहर्ता की प्रतिमा को अंतिम आकार देने में लगे है। वहीं गणेशोत्सव समितियां भी तैयारी में जुट गई है।

अंचल के कुछ गणेशोत्सव समितियों के पदाधिकारीयों ने बताया की समितियों की बैठक कर गणेशोत्सव की जिम्मेदारी सदस्यों को सौप दी गई है। जिस पर प्रत्येक सदस्य अपनी जिम्मेदारी के मुताबिक कार्यों को पुरा करने में जुटा हूआ है। इसके अलावा प्रत्येक सदस्य अपनी जिम्मेदारी के मुताबिक कार्यों को पुरा करने में जुटा हुआ है। इसके साथ ही गणेशोत्सव समितियों के पदाधिकारी गण भी अपने पसंद के हिस्साब से गणेश प्रतिमा तैयार करने का काम भी मुर्तिकार को दे दिया गया है।

उत्तर-मुंबई के सार्वजनिक दुर्गा पंडाल में महानायक ने की पूजा-अर्चना

10 सितम्बर को विघ्नहर्ता घर-घर, चौक-चौराहे व् सार्वजनिक पंडालों में विराजेगें

इस बार अधिक महंगाई बढ़ने का असर गणेश पूजा पर भी रहेगा। लगातार कोरोना काल जैसे विपदा के बाद इस बार विघ्नहर्ता की प्रतिमाओं को आकार देने में इस समय स्थानिय संहित क्षेत्र के मुर्तिकार जोर शोर से जुटे हुये हैं। मुर्तिकार ही नहीं इस कार्य में इनका पूरा परिवार भी जुटा हुआ है। मुर्ति के लिए मिट्टी तैयार करने से लेकर भव्य आकार देने क्रमबध्द निर्माण चल रहा है।

आकाशीय बिजली गिरने से 47 बकरीयो की मौत,मौक़े पर पहुँचे विभाग के अधिकारी

इस सम्बन्ध में खल्लारी के मशहूर चर्चित पेंटर व मुर्तिकार

श्रवण यादव ने बताया की इस साल मूर्तियां खरीदने के लिए

समितियों व लोगों को 25 से 30 फीसदी अधिक कीमत चुकाने होंगे।

दरअसल मुर्तियां बनाने के लिए उपयोग में लाई जाने वाली वस्तुऐंं पैरा,

मिट्टी, बांस रंग, पेंट आदि के दामों में बढोत्तरी होने से मुर्तियों निर्माण के लागत में वृध्दि हुई है।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

 

Translate »