Home देश भारत, विश्व भर के बौद्ध समाज की श्रद्धा का, आस्था का, प्रेरणा...

भारत, विश्व भर के बौद्ध समाज की श्रद्धा का, आस्था का, प्रेरणा का केंद्र है पीएम मोदी

भगवान बुद्ध के ज्ञान से लेकर महापरिनिर्वाण तक की संपूर्ण यात्रा का साक्षी ये क्षेत्र आज सीधे दुनिया से जुड़ गया है

दिल्ली-भारत, विश्व भर के बौद्ध समाज की श्रद्धा का, आस्था का, प्रेरणा का केंद्र है। आज कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की ये सुविधा, एक प्रकार से उनकी श्रद्धा को अर्पित पुष्पांजलि है। भगवान बुद्ध के ज्ञान से लेकर महापरिनिर्वाण तक की संपूर्ण यात्रा का साक्षी ये क्षेत्र आज सीधे दुनिया से जुड़ गया है।

श्रीलंकन एयरलाइंस की फ्लाइट का कुशीनगर में उतरना, इस पुण्य भूमि को नमन करने की तरह है। इस फ्लाइट से श्रीलंका से आए अतिपूजनीय महासंघ और अन्य महानुभाव, आज कुशीनगर बडे गर्व के साथ आपका स्वागत करता है । उक्त बाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के उद्घाटन के अवसर पर कही।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों को विकसित करने के लिए, बेहतर कनेक्टिविटी के लिए, श्रद्धालुओं की सुविधाओं के निर्माण पर भारत द्वारा आज विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कुशीनगर का विकास, यूपी सरकार और केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं में है।

नए संसद भवन के चल रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण किया पीएम मोदी ने

  हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/  WatsApp https:FLvSyB0oXmBFwtfzuJl5gU  Twitter:https:DNS11502659  Facebook https:dailynewsservices/

भगवान बुद्ध की जन्म स्थली लुंबिनी यहां से बहुत दूर नहीं है। कपिलवस्तु भी पास में ही है। भगवान बुद्ध ने जहां पहला उपदेश दिया, वो सारनाथ की भूमि भी सौ-ढाई सौ किलोमीटर के दायरे में है। जहां बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ, वो बोधगया भी कुछ ही घंटों की दूरी पर है। ऐसे में ये क्षेत्र सिर्फ भारत के ही बौद्ध अनुयायियों के लिए ही नहीं बल्कि श्रीलंका, थाइलैंड, सिंगापुर, लाओस, कम्बोडिया, जापान, कोरिया जैसे अनेक देशों के नागरिकों के लिए भी एक बहुत बड़ा श्रद्धा का और आकर्षण केंद्र बनने जा रहा है।

उड़ान योजना को 4 साल पूरे होने आ रहे हैं। उड़ान योजना के तहत बीते सालों में 900 से अधिक नए रूट्स को स्वीकृति दी जा चुकी है, इनमें से 350 से अधिक पर हवाई सेवा शुरु भी हो चुकी है। 50 से अधिक नए एयरपोर्ट या जो पहले सेवा में नहीं थे, उनको चालू किया जा चुका है। आने वाले 3-4 सालों में कोशिश ये है कि देश में 200 से अधिक एयरपोर्ट, हेलीपोर्ट्स और सी-प्लेन की सेवा देने वाले वॉटरड्रोम का नेटवर्क देश में तैयार हो।

किसान को नही मिली बेचीं गई धान की पूरी रकम, किया राइसमिलर की शिकायत 

भारत, विश्व भर के बौद्ध समाज की श्रद्धा का, आस्था का, प्रेरणा का केंद्र है पीएम मोदी

इस दौरान उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्रिमंडल के मेरे सहयोगी ज्योतिरादित्य सिंधिया, किरण रिजिजू, जी किशन रेड्डी, जनरल वी के सिंह, अर्जुन राम मेघवाल, श्रीपद नायक,मीनाक्षी लेखी, यूपी सरकार के मंत्री  नंद गोपाल नंदी, सांसद विजय कुमार दुबे, विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी के अलावा विभिन्न देशों के राजदूत-राजनयिक, अन्य जन प्रतिनिधि गण मौजूद थे ।

 

Translate »