Home खास खबर रेस्क्यू टीम के साथ अजरूल को भी किया गया सम्मानित,बोर में फंसे...

रेस्क्यू टीम के साथ अजरूल को भी किया गया सम्मानित,बोर में फंसे राहुल की जान बचाने पर

राज्योत्सव में पुनः सम्मानित करने की घोषणा की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने

Raipur:-बोर में फंसे राहुल की जान बचाने में अजरूल ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है जांजगीर-चांपा जिले के पिहरीद गांव में बोर में फंसा हुआ था जिसे रेस्क्यू टीम,शासन,प्रशासन के सहयोग से उसे नया जीवनदान मिला। 

मुख्यमंत्री ने अजरूल से बातचीत करते हुए उससे पुछा कि आपको डर नहीं लगा तो उसने कहा मुझे सबसे पहले बच्चे की जान बचाने की फिक्र थी। मुख्यमंत्री ने अजरूल को अपने निवास पर आज आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया और राज्योत्सव में पुनः सम्मानित करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अजरूल की साहस की सराहना करते हुए कहा कि एक बच्चे ने दूसरे बच्चे की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल दी, अजरूल की जितनी भी तारीफ की जाए उतनी कम है।104 घंटे के इस रेस्क्यू अभियान को अंतिम परिणाम तक पहुंचाने में अजरूल हक की महत्वपूर्ण भूमिका थी।

दिव्यांग खिलाड़ियों का 05 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण 22 जून से

रेस्क्यू टीम के साथ अजरूल को किया गया सम्मानित

रेस्क्यू टीम के साथ अजरूल को किया गया सम्मानित

दुर्गम क्षेत्र में चल रहे सड़क निर्माण कार्य का किया शिलान्यास कैबिनेट मंत्री भगत ने

अजरूल रायपुर स्मार्ट सिटी में सीवरेज सिस्टम में कार्यरत है। जब रेस्क्यू टीम ने खुदाई पूर्ण कर टर्नल बना कर राहुल के करीब पहुंच गए तब उस समय राहुल को बाहर निकालने का निर्णय लिया और यह जिम्मा अजरूल हक को दिया गया। अजरूल को सेफ्टी बेल्ट पहनाकर मुंह के बल नीचे उतारा गया।

रक्तवीरों को प्रमाण पत्र देकर किया गया सम्मानित

अजरूल ने बताया कि जब वे नीचे उतरे तो देखा कि राहुल गड्ढे में लेटा हुआ है। तब मैने राहुल को

उठाया और उसे सेफ्टी बेल्ट पहनाया और उसे बाहर निकाल लाया। जब मैं गड्ढे में उतरा तो उस

समय मेरी जहन में एक ही बात थी कि मेरी जान भले ही चली जाए पर उसकी जान बच जाए।

इसी सोेच ने मुझे प्रेरणा दी और मुझे किसी प्रकार का डर नहीं लगा और मैं राहुल को बचा पाया।

हमसे जुड़े :

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »