Home देश छत्तीसगढ़ कलेक्टर ने खट्टी धान उपार्जन केन्द्र के प्रभारी को कारण बताओं नोटिस...

कलेक्टर ने खट्टी धान उपार्जन केन्द्र के प्रभारी को कारण बताओं नोटिस जारी करने के दिए निर्देश-

महासमुन्द :कलेक्टर  सुनील कुमार जैन ने आज जिले के बागाबाहरा एवं महासमुन्द विकासखण्डों में स्थित धान उपार्जन केन्द्रों का सघन दौरा कर धान खरीदी का जायजा लिया। कलेक्टर जैन बागबाहरा विकासखंड के सीमावर्ती एवं दूरस्थ अंचल के धान उपार्जन केन्द्रों में पहुंचे और धान उपार्जन की कार्रवाई का निरीक्षण किया। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  देवव्रत सिरमौर सहित खाद्य सहकारिता, जिला विपणन एवं नोडल अधिकारी सीसीबी उपस्थित थे। कलेक्टर  जैन ने आज विशेष रूप से बागबाहरा विकासखण्ड के कसेकेरा, कोमाखान, कछारडीह, आमाकोनी, तुसदा, टुहलू जांच चौकी तथा विकासखंड महासमुन्द के खट्टी धान उपार्जन केन्द्र पहुंच कर धान खरीदी का औचक निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-दिर्नेश दिए.

https;-उत्तर भारत में शीतलहर जारी अभी है जारी, आने वाले दिनों में बढ़ सकती है और ठंड

खट्टी धान उपार्जन केन्द्र में स्टेक डनेज व्यवस्था ठीक नहीं होने पर उन्होंने ने नाराजगी जाहिर की और उपार्जन केन्द्र के प्रभारी बलदाऊ सेन को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।कलेक्टर  जैन ने आज सबसे पहले विकासखंड बागबाहरा के कोमाखान धान उपार्जन केन्द्र पहुंचे जहां उन्होंने खरीदी केन्द्र का मुआना किया वहीं उन्होंने बारदाने का भौतिक सत्यापन कराया साथ ही स्टेक सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिए। बागबाहरा के कसेकेरा धान उपार्जन केन्द्र पहुंच कर उन्होंने उपार्जित धान को स्टेक लगाकर रखने और उसके नीचे डनेज लगाने के लिए कहां ताकि धान सुरक्षित रहें। उन्होंने धान उठाव करते समय गाडियां के फोटो लेने के लिए कहां तथा गाड़ी के जीपीएस की भी जांच कराई। उन्होंने बारदाने का सत्यापन कराया वहीं किसानों द्वारा किए गए रकबा समर्पण की जानकारी दी.

https;-जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में छात्र संगठनों के बीच झड़प

https;-भारत-श्रीलंका पहला टी20 बारिश से धुला, बुमराह का इंतजार बढ़ा

कलेक्टर  जैन धान उपार्जन केन्द्र कछारडीह पहुंच कर उपार्जित धान का स्टेक, पुराने एवं नये बारदाने की जानकारी लेने के साथ स्टॉक पंजी का सत्यापन कराया। उन्होंने उपार्जन केन्द्रों के प्रभारी से कहां कि स्टेक लगाते समय सिंगल एवं डबल डनेज लगाकर रखने की व्यवस्था करे। इस दौरान उन्होंने आमाकोनी धान उपार्जन केन्द्र तथा तुसदा धान उपार्जन केन्द्रों में अब तक की गई धान खरीदी का ब्यौरा लिया, वहीं धान के स्टेक एवं बारदाने का भौतिक सत्यापन कराया। उन्होंने कहां कि उपार्जित धान के स्टेक के समक्ष उनकी संख्या एवं मात्रा अवश्य अंकित करे ताकि निरीक्षण के समय पुरी जानकारी मिल सके। उन्होंने टुहलू जांच चौकी का निरीक्षण भी किया.

https;-जनता का विश्वास पुलिस की सबसे बड़ी पूँजी , मुख्यमंत्री ने आई.पी.एस. कॉनक्लेव को संबोधित किया-

जैन महासमुन्द विकासखंड के धान उपार्जन केन्द्र खट्टी पहुंच कर धान खरीदी का निरीक्षण किया। उन्होंने धान खरीदी केन्द्र के प्रभारी को कड़े निर्देश देते हुए कहां कि उपार्जित धान को सुरक्षित रखने के लिए स्टेक के नीचे सिंगल एवं डबल डनेज लगाए और व्यवस्थित रूप से धान का उठाव कराए। इसके अलावा उन्होंने किसानों द्वारा रकबा समर्पण की भी जानकारी ली.जिले में धान उपार्जन केन्द्रों में किसानों से धान खरीदी के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में विभिन्न जांच दलों का गठन करने के साथ नोडल अधिकारियों की नियुक्त की गई है। इन अधिकारियों द्वारा समय-समय पर धान उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण भी किया जाता है और व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया जाता है.

हमसे जुड़े ;-