Home छत्तीसगढ़ नवीन मेडिकल काॅलेज में स्वीकृत पदों का विभागवार विभाजन किया गया

नवीन मेडिकल काॅलेज में स्वीकृत पदों का विभागवार विभाजन किया गया

संसदीय सचिव ने मिली सौगात के लिए मुख्यमंत्री का जताया आभार
Vinod Chandrakar-1

महासमुंद-जिला मुख्यालय  में खुलने जा रही नवीन मेडिकल काॅलेज में स्वीकृत पदों का विभागवार विभाजन किया गया है। राज्य शासन से मिली स्वीकृति पर वित्त विभाग ने सहमति जताई है। संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि महासमुंद में नवीन मेडिकल काॅलेज स्थापना की प्रक्रिया में तेजी आ रही है।

संसदीय सचिव ने बताया कि मेडिकल काॅलेज की स्थापना के लिए वे लगातार प्रयासरत रहे हैं और शासन-प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराते रहे हैं। 325 करोड़ की लागत से सर्वसुविधायुक्त मेडिकल काॅलेज का निर्माण होना है।

मेडिकल काॅलेज के लिए पहली किश्त भी जारी होने के साथ ही सेटअप व मेडिकल काॅलेज के विद्यार्थियों के प्रशिक्षण के लिए हाॅस्पिटल का निर्धारण भी हो गया है। अनुपूरक बजट में भी राशि का प्रावधान किया गया है।

सड़क दुर्घटना मामले में भारत पहले स्थान पर,मौतों पर काबू पाने के प्रयास का आह्वान

उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज के लिए अनुपूरक बजट में प्रावधान हो जाने से मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं आएगा। शासन स्तर से मेडिकल कॉलेज को व्यवस्थित रूप से संचालित करने पूरा सहयोग प्रदान किया जा रहा है। इसी तारतम्य में बीते 6 फरवरी 2021 को राज्य शासन ने नवीन स्थापित शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय महासमुंद के लिए चिकित्सा शिक्षक संवर्ग के स्वीकृत पदों का विभागवार विभाजन किया है।

इसके तहत अधिष्ठाता के एक पद सहित प्राध्यापक के सात पदों में एनाटामी, फिजियोलाजी, बायोकेमेस्ट्री, शिशुरोग, जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी व प्रसूति एवं स्त्रीरोग के एक-एक पद शामिल हैं। इसी तरह सह प्राध्यापक 14 पदों में एनाटामी, फिजियोलाजी, बायोकेमेस्ट्री, फार्माकोलाजी, पैथोलाजी, माइक्रोबायोलाजी शिशु रोग जनरल सर्जरी, अस्थि रोग, प्रसूति एवं स्त्री रोग, निश्चेतना व रेडियोडाग्नोसिस के एक-एक पद तथा जनरल मेडिसिन के दो पद हैं।

एक देश, एक राशन कार्ड को लागू करने वाला 12 वां राज्य बना राजस्थान

सहायक प्राध्यापक के 16 पदों में एनाटामी, फिजियोलाजी, बायोकेमेस्ट्री, जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी के दो-दो पद तथा पैथोलाजी, फोरेसिंक मेडिसिन, कम्यूनिटी मेडिसिन, प्रसूति एवं स्त्रीरोग, निश्चेतना व रेडियोडायग्नोसिस के एक-एक पद, प्रदर्शक-टूयटर के 17 पदों में से एनाटामी, फिजियोलाजी, बायोकेमेस्ट्री के तीन-तीन पद, पैथोलाजी, माइक्रोबायोलाजी, कम्यूनिटी मेडिसिन के दो-दो पद है ।

उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे के बाद 206 व्यक्ति लापता 32 शव किए गए बरामद

इसी तरह फार्माकोलाजी, फोरेंसिक मेडिसिन के एक-एक पद सहित सीनियर रेसीडेंट के 22 पदों में इमरजेंसी मेडिसिन के चार पद, जनरल मेडिसिन व जनरल सर्जरी के तीन-तीन पद, प्रसूति एवं स्त्री रोग व रेडियोडायग्नोसिस के दो-दो पद, शिशु रोग, चर्म एवं रतिज रोग, मनोरोग, रेस्पीरेटरी मेडिसिन, अस्थि रोग, ईएनटी, नेत्र रोग, निश्चेतना के एक-एक पद शामिल हैं।

उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे के बाद 206 व्यक्ति लापता 32 शव किए गए बरामद

वहीं जूनियर रेसीडेंट के 24 पदों में जनरल मेडिसिन व जनरल सर्जरी के 6-6 पद, शिशुरोग, अस्थि रोग के दो-दो पद, प्रसूति एवं स्त्रीरोग के तीन पद, रेस्पीरेटरी मेडिसिन, चर्म एवं रतिज रोग, मनोरोग, नेत्र रोग व ईएनटी के एक-एक पद शामिल हैं। इसके लिए वित्त विभाग से भी सहमति मिल गई है।

मेडिकल काॅलेज के लिए बजट में भी प्रावधान

संसदीय सचिव चंद्राकर ने बताया कि महासमंद में मेडिकल काॅलेज के लिए अनुपूरक बजट में करोड़ों रुपए की राशि का प्रावधान किया  गया है। नवीन शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय महासमुंद  और कोरबा के लिए चिकित्सकीय उपकरण क्रय के लिए 26 करोड़ तथा  भवन निर्माण के लिए 4 करोड़ कुल 30 करोड़ का प्रावधान किया है।  वहीं महासमुन्द व कोरबा में नवीन पदों के सृजन, स्थापना व अन्य व्यय के लिए 324.60 लाख का प्रावधान किया गया है।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/