Home देश मरु महोत्सव में रेगिस्तान के जहाज ऊँटों की भागीदारी से जुड़ी स्पर्धाओं...

मरु महोत्सव में रेगिस्तान के जहाज ऊँटों की भागीदारी से जुड़ी स्पर्धाओं के नाम रहा

अल्पसंख्यक मामलात, वन मंत्री तथा शिक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री ने किया पुरस्कार वितरण

जयपुर- जैसलमेर जिले में चल रहे विख्यात 4 दिवसीय मरु महोत्सव का तीसरा दिन शुक्रवार को डेडानसर स्टेडियम में रेगिस्तान के जहाज ऊँटों की भागीदारी से जुड़ी स्पर्धाओं के नाम रहा। इस दौरान ऊँट श्रृंगार, कैमल पोलो, कैमल टेटू शो, शान-ए- मरुधरा आदि ने खासा रंग जमाया वहीं आर्मी बैण्ड की प्रस्तुति, महिलाओं के बीच रस्साकशी, कबड्डी एवं पनिहारी मटका दौड़ के कार्यक्रम आकर्षण का केन्द्र रहे।

       जयपुर में चोरो ने एक अजीबोगरीब तरह से चोरी की घटना को दिया अंजाम

तीसरे दिन के आयोजनों की शुरूआत ऊँट श्रृंगार (कैमल डेकोरेशन शो) से हुई। इसमें सजे-धजे ऊँटों के साथ ऊँट मालिकों ने हिस्सा लिया। इस प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ रहे ऊँटों के मालिकों को अल्पसंख्यक मामलात मंत्री श्री शाले मोहम्मद, वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री सुखराम विश्नोई तथा शिक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री गोविन्दसिंह डोटासरा ने प्रमाण पत्र व पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया।

     20 लाख किसानों के खातों में ट्रान्सफर किये 400 करोड़ रूपये CM चौहान ने

मरु महोत्सव में रेगिस्तान के जहाज ऊँटों की भागीदारी से जुड़ी स्पर्धाओं के नाम रहा

      प्रदेश के 153 खिलाड़ियों को मिलेगी सरकारी नौकरी CM गहलोत ने लिया निर्णय

ऊँट श्रृंगार प्रतियोगिता में कुंवरसिंह राठौड़ का ऊँट प्रथम रहा जबकि शंकराराम का ऊँट द्वितीय तथा मीरे राम का ऊँट तृतीय स्थान पर रहा। इस अवसर पर विधायक रूपाराम, नगर परिषद सभापति  हरिवल्लभ कल्ला, पर्यटन निदेशक निशान्त जैन, जैसलमेर कलक्टर आशीष मोदी, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. अजयसिंह सहित जन प्रतिनिधिगण, आर्मी, वायुसेना एवं बीएसएफ, प्रशासनिक, पुलिस एवं विभागीय जिलाधिकारीा तथा बड़ी संख्या में सैलानियों एवं स्थानीय निवासियों ने लुत्फ उठाया।

        129 नव दम्पतियों को दिया आशिर्वाद वर्चुअल माध्यम से मुख्यमंत्री बघेल ने

जैसलमेर जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग की ओर से मरु महोत्सव के

सभी अतिथियों का साफा बंधवाकर स्वागत-अभिनंदन किया गया। आर्मी बैण्ड

का शानदार प्रदर्शन सभी को मंत्र मुग्ध कर गया।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/