Home क्राइम सरायपाली के ग्राम संतपाली में हुए दोहरे अंधे कत्ल का किया गया...

सरायपाली के ग्राम संतपाली में हुए दोहरे अंधे कत्ल का किया गया खुलासा

आरोपी जगमोहन व मृत दपंति के मध्य पहले भी हुआ वाद विवाद बदले में दिया घटना अंजाम

Mahasamund:-थाना सरायपाली के ग्राम संतपाली में हुये दोहरे अंधे कत्ल का आज खुलासा पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल Bhojram Patel (IPS) के द्वारा किया गया  ग्राम के ही युवक ने अपने मित्र के साथ मिलकर बुजुर्ग दंपति की हत्या। घटना की सूचना मिलने के 24 घंटे के भीतर महासमुन्द पुलिस टीम ने दोनो हत्यारो को पकडा । आरोपी जगमोहन व मृत दपंति के मध्य पहले भी हुआ वाद विवाद बदले में घटना को अंजाम दिया था।

कार्यालय पुलिस अधीक्षक से मिली जानकारी के मुताबिक़ 21जुलाई को ग्राम संतपाली कोटवार दयालाल चौहान पिता शंथूनाथ चौहान थाना सरायपाली में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि परिजन कलप राम भोई व पत्नि सादबती भोई सा. ग्राम संतपाली इन्द्रा नगर में कच्ची मकान बनाकर रह रहा था। परिवार के लोगों ने बताया कि कलप राम भोई के घर का दरवाजा बाहर से बंद है अन्दर से कोई आवाज नही आ रहा है तब वह उसके घर जाकर खिडकी से परिजनों के साथ देखा तो कलप राम भोई व पत्नि सातबती भोई दोनो अलग-अलग खाट पर पडे थे। दोनो कि मृत्यु हो गई है।

पालिका कर्मचारी संघ ने नपाध्यक्ष को सौंपा मांग पत्रसरायपाली के ग्राम संतपाली में हुए दोहरे अंधे कत्ल का किया गया खुलासा

गला दबाकर हत्या करने का शंका

पुलिस अधीक्षक द्वारा दोहरे अंधे कत्ल को गंभीरता से लेते हुए मर्ग सदर जाॅच कर थाना सरायपाली व सायबर सेल की टीम एवं फाॅरेसिंक टीम रायपुर घटना स्थल पहुच कर जाॅच किया टीम ने देखा कि घटना मृतक-मृतिका का कच्चा मकान का दरवाजा बाहर से ताला लगा हुआ था जिसे खोल कर देखा गया मृतक कलप राम एवं मृतिका सातबती भोई दोनो अलग-अलग खाट में मृत हालत में पडे हुए थे । फाॅरेंसिक टीम द्वारा शव निरीक्षण कर दोनो की मृत्यु गला दबाने व दम घुटने से किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा गला दबाकर हत्या करने का शंका जाहिर किये।

सायबर सेल की टीम व थाना सरायपाली पुलिस की टीम एवं डाॅग स्क्वाड महासमुन्द घटना स्थल मौका पहुच कर घटना निरीक्षण कर मृतक के बारे में अलग-अलग टीम गठित कर छोटी सी छोटी जानकारी एकत्र किया गया। जाॅच दौरान पता चला कि आज से 03-04 माह पूर्व मृतिका के नतनिन के साथ संदेही जगमोहन श्रीवास प्रेम संबंध की बात जानकारी मृतिका को होने से मृतिका द्वारा संदेही के साथ झगडा विवाद मारपीट पाया गया।

पूछताछ में किया गुनाह कबूल

जिसके आधार पर पुलिस की टीम द्वारा संदेही जगमोहन श्रीवास को पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करना प्रारंभ किया गया। जिस पर संदेही द्वारा पुलिस को मनगणत बाते कहकर बरगला कर गोल मोल जवाब देना लगा। जिसे कडाई एवं बारिकी से पूछताछ करने पर पुलिस पूछताछ पर अततः टूट कर अपराध करना स्वीकार किया।

आरोपी जगमोहन श्रीवास ने दोहरे अंधे कत्ल के बारे में बताया कि मृतक के नतनिन के साथ प्रेम संबंध था जिसे मृतक मृतिका को दोनो के प्रेम संबंध के बात की जानकारी होने से तथा मृतक मृतिका द्वारा इसके घर आकर झगडा गाली गलौच किया गया तथा दोनो के प्रेम संबंध की बात इसके माता पिता को भी बता दिया जिससे क्षुब्द होकर मृतक व मृतिका से द्वेष ईष्या रखकर उक्त दोनो को अपने रास्ते से हटाने की भावना रखना बताया।

जीवतरा में हुए अंधे कत्ल का हुआ खुलासा,बेटा ही निकला पिता का हत्यारा

सरायपाली के ग्राम संतपाली में हुए दोहरे अंधे कत्ल का किया गया खुलासा

योजना बनाकर अपने साथी को लाया

19 जुलाई के दरमियानी रात्री को अपने साथी लव कुमार रत्नाकर को योजना बता कर अपने साथ लाया व दोनो के द्वारा घटना की रात मृतक दपंति के घर जाकर अन्दर से बंद दरवाजा को व सीटकनी को खोलकर अन्दर जाना व मृतक/मृतिका दोनो को अलग-अलग खाट सोना व सोये हालत में मृतिका सातबती भोई की गला को स्वयं जगमोहन श्रीवास तथा मृतक कलप राम भोई के गला को लव कुमार द्वारा दबाकर हत्या कर देना तथा घर में रखे 8,000/- रूपये रकम व खाट पर रखे एक नग मोबाइल को चोरी कर ले जाना तथा घटना कि जानकारी किसी को पता न चले मृतक घर के बाहर दरवाजा में ताला लगाकर चाबी को वापस मृतक घर में फेक देना नकदी रकम को आपस में बटवारा कर लेना बटवारा में मिले 4000 रूपया व मृतक के मांेबाइल को अपने घर में छिपाकर रखना बताया।

उक्त कार्यवाही पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल (IPS) के मार्गदर्शन में अति0 पुलिस अधीक्षक आकाश राव एवं अनु0अधिकारी (पु) सरायपाली विकास पाटले, अनु0अधिकारी (पु) महासमुंद कल्पना वर्मा के निर्देशन मे थाना प्रभारी सरायपाली निरीक्षक आशीष वासनिक, सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत, अनिल पालेश्वर, प्रकाश नंद, मिनेश ध्रुव आर. रवि यादव, शुभम पाण्डेय, संदीप भोई, डिग्री लाल नंद, त्रीनाथ प्रधान, हेमन्त नायक, देव कोसरिया, चन्द्रमणी यादव, विरेन्द्र साहू, योगेन्द्र दुबे, योगेन्द्र बंजारे, कमल जांगडे, दिनेश बुडेक, हिमाद्री देवता तथा थाना सरायपाली पुलिस की टीम द्वारा की गई।

हमसे जुड़े :

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

 

भाषा बदले »