Home छत्तीसगढ़ जिला के 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ब्लड बैंक खोलने की मिली...

जिला के 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ब्लड बैंक खोलने की मिली मंजूरी

सरायपाली, बसना, पिथौरा, बागबाहरा और तुमगाव में ब्लड बैंक खोलने की मंजूरी दी है

महासमुन्द- राज्य शासन द्वारा महासमुंद जिले की सभी 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) सरायपाली, बसना, पिथौरा, बागबाहरा और तुमगाव में ब्लड बैंक खोलने की मंजूरी दी है। ब्लड बैंक खुल जाने से जरूरतमंद मरीजों को खून के लिए इधर-उधर भटकना नही पड़ेगा। जरूरत के वक्त आवश्यकतानुसार उन्हें यहां खून मिल जाएगा। मरीज के परिजनों को खून के लिए दानदाताओं की तलाश भी नही करनी पड़ेेगी।

ब्लड कैंसर से पीड़ित रिया सिंह के ईलाज में उठ रहे है हाथ Cm चौहान ने दिए 5 लाख

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केन्द्रों में पर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाए बढ़ाने की तैयारी को सर्वोच्च प्राथमिकता में  रखा है। राज्य सरकार द्वारा कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर जिले के सभी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाई जा रही है।

जिला के 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ब्लड बैंक खोलने की मिली मंजूरी

विकासखंडो में ब्लड बैंक की जरूरत को देखते हुए जिले के चारों विधायक विनोद चंद्राकर, महासमुंद, द्वारिकाधीश यादव, खल्लारी, देवेन्द्र बहादुर सिंह बसना और किस्मत लाल नंद सरायपाली द्वारा जिले के पाॅचों सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर ब्लड बैंक की माॅग शासन से की थी। सरकार द्वारा उनकी माँग जरूरत को देखते हुए ब्लड बैंक बनाने की सहमति प्रदान की गई हैं। इसके लिए विधायकों द्वारा अपनी-अपनी विधायक निधि से राशि भी स्वीकृत कर दी है।

आड़, उपहार,कसक लघु कथाकार डा.अंजु लता सिंह की लघु कथा

महासमुंद कलेक्टर ने कहा कि आगामी दो माह के भीतर ब्लड बैंक खुल जायेंगे। जरूरतमंद मरीजों को खून के लिए भटकना नही पड़ेगा। जरूरत के वक्त आवश्यकतानुसार उन्हें यहां खून मिल जाएगा। मरीज के परिजनों को खून के लिए दानदाताओं की तलाश भी नहीं करनी पड़ेगी।

बाढ़ से हुए क्षति का आंकलन करें ताकि प्रभावित लोगों को राहत दी जा सके-CM चौहान

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए इमरजेंसी रूम, आईसीयू और ऑक्सीजन बेड

की भी व्यवस्था और संख्या बढ़ाई जा रही है।

महासमुंद जिला अस्पताल और पिथौरा अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का

सिविल वर्क अंतिम दौर में है। इन अस्पतालों में बेड तक ऑक्सीजन पाइप लाइन

का कार्य भी शुरू हो जाएगा। ताकि कोरोना के मरीजों व गंभीर मरीजों को

स्थानीय हॉस्पिटल में ही इलाज की सारी सुविधा मिल जाए।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

 

Translate »