Home छत्तीसगढ़ काले कृषि कानूनों के वापसी की घोषणा अन्नदाताओं के संघर्ष का सुखद...

काले कृषि कानूनों के वापसी की घोषणा अन्नदाताओं के संघर्ष का सुखद परिणाम-राशि

कृषि कानूनों की वापसी किसान आंदोलन की सफलता को दर्शाता है

महासमुंद-केंद्र सरकार द्वारा तीन काले कृषि कानूनों के वापसी की घोषणा अन्नदाताओं के संघर्ष का सुखद परिणाम है उक्त कानूनों को अगर उचित समय मे वापस लिया जाता तो आंदोलन में अपने प्राण गवा बैठे किसानों की जान बच जाती l उक्त बातें प्रेस विज्ञप्ति में प्रदेश महिला कांग्रेस सचिव नेता प्रतिपक्ष राशि महिलांग ने कही l

प्रदेश महिला कांग्रेस सचिव महिलांग ने कहा कि केंद्र सरकार को अन्नदाताओं के संघर्ष के आगे नतमस्तक होना पड़ा और इसी का यह सुखद परिणाम आज देशवासियों के समक्ष आया है l सरकार द्वारा कृषि कानूनों की वापसी किसान आंदोलन की सफलता को दर्शाता है l केंद्र सरकार द्वारा आंदोलन को कुचलने हेतु विभिन्न हथकंडो ,प्रयासों की आलोचना करते हुए कहा कि तमाम गलत तरीको को अपनाने के बावजूद किसान अपनी सार्थक व जनहितैषी मांग पर कायम रहे और अपने प्राणों की आहुति देकर आंदोलन को सफल बनाया l

पत्थलगांव में हुए हादसा में मृतक के परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा

काले कृषि कानूनों के वापसी की घोषणा अन्नदाताओं के संघर्ष का सुखद परिणाम-राशि
fail foto

 देश का सबसे स्वच्छतम राज्य का अवॉर्ड मिला 36गढ़ को राष्ट्रपति के हाथों CM बघेल ने किया ग्रहण

नेता प्रतिपक्ष महिलांग ने आगे कहाँ की स्वयं को किसान हितैषी सरकार बता कर प्रचार करने वाली सरकार को इस काले कानूनों व उसमे होने वाले नुकसानों को समझने में 1 वर्ष से अधिक का समय लगा जो उनकी किसान हितों के दावों की पोल खोलता है l  केंद्र सरकार से मांग की आंदोलन में प्राणों की आहुति देने वाले किसानों के परिजनों को तत्काल उचित

मुआवजा राशि की घोषणा करे जिससे उनके किसान हितों के दावों की सत्यता को बल मिले l

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

Translate »