Home छत्तीसगढ़ संसदीय सचिव की मौजूदगी में 2 भाजपा पार्षद कांग्रेस में हुए शामिल,अविश्वास...

संसदीय सचिव की मौजूदगी में 2 भाजपा पार्षद कांग्रेस में हुए शामिल,अविश्वास प्रस्ताव चुनाव से पहले BJP को झटका

पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष ने भी ली कांग्रेस की सदस्यता

Mahasamund:-अविश्वास प्रस्ताव पर चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका लगा है। संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर की मौजूदगी में भाजपा के दो पार्षद व नगरपालिका के पूर्व उपाध्यक्ष आज शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए।

कांग्रेस पार्षदों की ओर से नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर को हटाने लाये गए अविश्वास प्रस्ताव पर चार जुलाई को चुनाव होना है। इसे लेकर दोनों पार्टियों में सरगर्मी तेज हो गई है। इधर भाजपा के दो पार्षद सरला गोलू मदनकार व कमला बरिहा आज शनिवार को संसदीय सचिव निवास पहुंच कर संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चंद्राकर से मुलाकात की। बाद इसके कांग्रेस की नीतियों से प्रभावित होकर कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष त्रिभुवन महिलांग ने भी कांग्रेस प्रवेश किया।

पर्यावरण प्रेमीयों व् समाजसेवीयों के सहयोग से मिशन 90 डेज “3.0” के सफलतम 85 दिन हुए पूरे

संसदीय सचिव की मौजूदगी में 2 भाजपा पार्षद कांग्रेस में हुए शामिल

संसदीय सचिव ने कांग्रेस प्रवेश करने वालों का स्वागत किया। इस दौरान कांग्रेस के शहर अध्यक्ष खिलावन बघेल, जनपद अध्यक्ष यतेंद्र साहू, नगरपालिका उपाध्यक्ष कृष्णा चंद्राकर, नेता प्रतिपक्ष राशि महिलांग, सरपंच संघ के अध्यक्ष वीरेंद्र चंद्राकर, पूर्व नपा उपाध्यक्ष त्रिभुवन महिलांग, जनपद सदस्य कुणाल चंद्राकर, पार्षद बबलू हरपाल, जसबीर ढिल्लो, बादल मक्कड़, गोलू मदनकार, दीपक ठाकुर, सूरज नायक, दिलीप चंद्राकर, चूड़ामणि चंद्राकर, रेखराज साहू, मानिक साहू, गजेंद्र साहू, शैलेंद्र सेन आदि मौजूद थे।

कांग्रेस का अध्यक्ष बनना तय-चंद्राकर

संसदीय सचिव ने भाजपा पार्षदों के कांग्रेस प्रवेश करने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा

कि अध्यक्ष की कार्यशैली को लेकर पार्षदों में नाराजगी है। इसी वजह से उनके खिलाफ

अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। पहले भी कई पार्षदों ने कांग्रेस प्रवेश किया है।

क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों से प्रभावित होकर पार्षदों ने कांग्रेस प्रवेश किया है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए नगरपालिका में कांग्रेस का अध्यक्ष बनना तय है।

हमसे जुड़े :-

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »