Home छत्तीसगढ़ 04 के बजाय 03 असाईनमेंट जमा करना होगा अनिवार्य 10वीं 12वीं के...

04 के बजाय 03 असाईनमेंट जमा करना होगा अनिवार्य 10वीं 12वीं के परीक्षार्थियों को

लिखित एवं असाइनमेंट परीक्षा के अंकों को जोड़कर सैंद्धातिक विषय में उत्तीर्ण की पात्रता

04 के बजाय 03 असाईनमेंट जमा करना होगा अनिवार्य 10वीं 12वीं के परीक्षार्थियों को
fail foto

रायपुर-छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने के लिए कम से कम चार असाईनमेंट जमा करने की बाध्यता को शिथिल कर दिया है। अब बोर्ड परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए कम से कम तीन असाईनमेंट अनिवार्य रूप से जमा करने होंगे। इसमें चूक करने वाले परीक्षार्थियों को बोर्ड की मुख्य परीक्षा 2020-21 के लिए अपात्र माने जाएंगे। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बोर्ड परीक्षा शैक्षणिक सत्र 2020-21 में शामिल होने की पात्रता के संबंध में विशेष दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके अनुसार प्रत्येक विद्यार्थी को प्रत्येक विषय में अब कम से कम 3 असाइनमेंट जमा करना अनिवार्य होगा। उल्लेखनीय है कि असाईनमेंट जमा करने की संख्या में शिथिलता बोर्ड द्वारा वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर परीक्षार्थियों के हित को देखते हुए लिया गया है।

अवैध रेत भंडारण की पतासाजी के लिए विभिन्न स्थलों में टीम ने दी दबिश

माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि पूर्व में मुख्य परीक्षा शैक्षणिक सत्र 2020-21 में शामिल होने की पात्रता के लिए कक्षा 10वीं और 12वीं के प्रत्येक विषय के 6 असाइनमेंट में से कम से कम 4 असाइनमेंट (70 प्रतिशत) प्रत्येक विद्यार्थी द्वारा जमा किया जाना अनिवार्य किया गया था। वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर मण्डल द्वारा छात्रहित में प्रत्येक विषय के 4 असाइनमेंट की बाध्यता को शिथिल करते हुए 3 असाइनमेंट (50 प्रतिशत) की अनिवार्यता सुनिश्चित की गई है। इससे यह स्पष्ट है कि जो बोर्ड परीक्षार्थी प्रत्येक विषय में कम से कम 3 असाइनमेंट जमा नहीं करेंगे, वे मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए पात्र नहीं होंगे।

हॉकी, एथेलेटिक्स एवं तीरंदाजी में निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षण आवेदन 15 फरवरी तक

माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि प्रत्येक विषय के विद्यार्थी के सर्वाधिक अंक वाले 3 असाइनमेंट के प्राप्तांकों के आधार पर 30 प्रतिशत अधिभार को आंतरिक मूल्यांकन के लिए मान्य किया जाएगा।

मुख्य परीक्षा परीक्षा में सैंद्धातिक अंकों के 70 प्रतिशत अंक लिखित

परीक्षा (बाह्य परीक्षा) और सैंद्धातिक अंकों के 30 प्रतिशत अंक

असाइनमेंट परीक्षा (आंतरिक परीक्षा) के आधार पर मान्य किए

जाएंगे। छात्र को लिखित परीक्षा और असाइनमेंट परीक्षा के

अंकों को जोड़कर सैंद्धातिक विषय में उत्तीर्ण की पात्रता होगी।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/