महासमुंद: विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने सोमवार को ग्राम बरभाठा के प्राथमिक स्कूल का आकस्मिक निरीक्षण किया। मध्यान्ह भोजन के दौरान पहुंचे विधायक  चंद्राकर ने बच्चों के साथ बैठकर भोजन का स्वाद भी चखा।
यहां लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे विधायक  चंद्राकर ने शासकीय प्राथमिक स्कूल का निरीक्षण किया। सबसे पहले विधायक  चंद्राकर मध्यान्ह भोजन के रसोई कक्ष में पहुंचे। यहां अंधेरा होने पर नाराजगी जताते हुए विधायक  चंद्राकर ने कहा कि अंधेरे में कैसे बच्चों के लिए भोजन बनाया जाता होगा। पूछने पर उन्हें बताया गया कि यहां एक माह से बिजली खराब है.

जिस पर विधायक चंद्राकर ने प्रधानपाठिका को यहां लाइट की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। इसके अलावा ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों से भी कहा कि स्कूलों का समय-समय पर निरीक्षण किया जाए। बाद इसके मध्यान्ह भोजन कर रहे बच्चों के बीच में पहुंचकर विधायक चंद्राकर ने भोजन की गुणवत्ता के बारे में पूछा। साथ ही उन्हें मध्यान्ह भोजन का स्वाद भी चखा। इस दौरान बच्चों से सामान्य ज्ञान से संबंधित सवाल भी किया। उन्होंने अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होने के लिए मेहनत करने पर जोर दिया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से लक्ष्मण पटेल, दारा साहू, खिलावन साहू, देवेंद्र चंद्राकर, तोषण कन्नौजे, विक्की पटेल आदि मौजूद थे।

अधूरे भवन की ली जानकारी

शासकीय प्राथमिक स्कूल पथर्री का भी विधायक  चंद्राकर ने निरीक्षण किया। इस दौरान यहां स्टाफ की जानकारी लेते हुए अटेंडेंस रजिस्टर का अवलोकन किया। यहां दो साल से अधूरे पड़े अतिरिक्त भवन के बारे में जानकारी ली। विधायक चंद्राकर को ग्रामीणों व स्कूल स्टाफ ने जानकारी दी कि यह भवन पिछले दो सालों से अधूरा पड़ा है। बताया गया कि फंड नहीं मिलने के कारण इसका पूरा निर्माण नहीं हो सका है। जिस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों से सवाल-जवाब किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here