लाॅक डाउन में नगद संगवारी बने लाइफ़लाइन,हितग्राहियों के घर जाकर 12 लाख रूपये किए वितरित

बलौदाबाज़ार जिले में संचालित यह नगद संगवारी योजना किसी वरदान से कम नहीं

बलौदाबाजार-देशव्यापी लाॅक डाउन से उपजे विषम हालात में जिले के नगद संगवारी लोगों के लिए सबसे बडे़ मददगार साबित हो रहे हैं। संकट की इस घड़ी मंे ग्रामीण इलाको ंमें रहने वाले लोगों खासकर वृद्धजन ,दिव्यांगों और जरुरतमंदो लोगों को बैंक तक पहुचने एंव खातों से पैसे निकालने में दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी हालात में जिले में सक्रिय रूप से कार्यरत 215 नगद संगवारी जरूरतमंद लोगों के लिए किसी देवदूत से कम नहीं हैं।

वे विभिन्न ग्रामांे में पेंशनभोगियों के घर घर जाकर आधार नम्बर पर आधारित भुगतान प्रणाली के माध्यम से उनकी पेंशन राशि नकद रूप में दे रहे हैं। अब तक लगभग 4 हजार से अधिक हितग्राहियो के घर घर जाकर लगभग 12 लाख रूपये की नगद पेंशन राशि का भुगतान कर चुके हैं। पेंशन के अलावा जनधन खाताधारकों, मनरेगा मजदूरी आदि का भुगतान भी कर रहे हैं। भुगतान की इस प्रणाली के अंतर्गत जहां एक ओर लाॅकडाउन का पालन सुनिश्चित हो रहा है, वहीं दूसरी ओर बैंको में लगने वाली लंबी लंबी कतारो में भी कमी हो रही है।

यह भी पढ़े ;लॉकडाउन के दौरान स्कूल में ठहरे प्रवासी मजदूरों ने स्कूल का किया कायाकल्प

ये नगद संगवारी स्वंय भी लाॅकडाउन के निर्देशांे- फिजिकल डिस्टेंसं का पालन कर रहे हैं, वही ग्रामीणो को भी राशि भुगतान के साथ फिजिकल डिस्टेंस, स्वच्छता का महत्व एंव कोरोना से सावधानी व सुरक्षा के उपाय बता रहे है। सामाजिक सहायता अतंर्गत संचालित पेंशन योजनाओं के साथ साथ अन्य विभागो द्वारा भी हितग्राहियो के खाते में सहायता राशि जमा हुई है। परन्तु लाॅकडाउन के कारण बैंकों तक जाना और धनराशि निकालना सचमुच कठिन था। ऐसे में जिला प्रशासन की ओर से नगद संगवारियों द्वारा धनराशि का घर-घर जाकर वितरण सुनिश्चित किया जाना प्रशासनिक संवेदनशीलता का उदाहरण है। एक ओर जहां देश के अनके स्थानों के बैंकों में अपनी धनराशि निकालने के लिए ग्रामीणों की भीड़ लाॅकडाउन के नियमों के विपरीत बैंकों के बाहर लंबी-लंबी कतारों में अपनी बारी का इंतज़ार कर रही है वहीं बलौदाबाज़ार जिले में संचालित यह योजना किसी वरदान से कम नहीं है।

नगद संगवारियों द्वारा के अन्य लोगों जैसे शिक्षकों का वेतन ,मनरेगा मजदूरी,किसान सम्मान निधि, जनधन खातांे के राशि आदि भी हितग्राहियो को उनके घर पर ही नगद प्राप्त करने की सुविधा दी जा रही है। नगद संगवारी घर-घर जाकर नगद भुगतान कर ग्रामीणों एंव जरुरतमंदो के लिए लाइफ़लाइन की तरह काम कर रहे हैं। नगद संगवारी लोगो को इस कोरोना से उपजे संकटकाल में घर पहुंच राशि भुगतान कर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।जिले के कलेक्टर श्री कार्तिकेय गोयल ने जिले के सभी गांवों में नगद निकासी की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए नकद संगवारियों का उत्साहवर्धन किया एंव उन्हे मास्क पहनने, उपकरणो को प्रत्येक बार सेंनेटाइस कर एंव सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोगों को लाभान्वित करने के लिए प्रेरित किया।

यह भी पढ़े ;-मनरेगा की मजदूरी खाद्यान्न के रूप में भुगतान करने की अनुमति देने का अनुरोध केन्द्रीय मंत्री से

हमसे जुड़े :-

Twitter:https:DNS11502659

Facebook https:dailynewsservices/

 WatsApp https:FLvSyB0oXmBFwtfzuJl5gU