नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित हो रहे 39वां भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ)में छत्तीसगढ़ पवेलियन का मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज उद्घाटन किया। 14 से 27 नवंबर तक चलने वाले इस मेले में छत्तीसगढ़ के विभिन्न विभागों के स्टॉल लगाए गए हैं। मेले में शिरकत कर मुख्यमंत्री  बघेल ने स्टालों का अवलोकन कर जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के कारीगरों की प्रशंसा करते हुए विजिटर बुक में भी उल्लेख किया है। उन्होंने शुभकामनाएं देते हुए लिखा है कि छत्तीसगढ़ के स्टाल में हमारे मेहनतकश कारीगरों के उत्कृष्ट कार्य दिखाई देता है। उनके द्वारा निर्मित सामान विश्वस्तरीय है।
इस मौके पर कृषि मंत्री रविंद्र चौबे और खाद्य मंत्री  अमरजीत भगत भी उपस्थित रहे। अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के हॉल नम्बर 12-। छत्तीसगढ़ का पवेलियन है, जो कि पहले ही दिन यहाँ आने वाले आगंतुकों के आकर्षण का केंद्र रहा। भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में छत्तीसगढ़ का पवेलियन इस वर्ष की थीम ‘ ईज ऑफ डूइंग’ बिजनेस के अनुरूप तैयार किया गया है।

https;-गैस रिसाव से 80 कर्मचारी प्रभावित,दिए जांच के आदेश

https;-किसानों की सम्पन्नता से ही बाजारों में आती है रौनक:  भूपेश बघेल

व्यापार मेला में बड़ी संख्या में प्रदेश के दस्तकार, शिल्पकार, कारीगर भाग ले रहे हैं। छत्तीसगढ़ का हस्तशिल्प और हैंडलूम उत्पाद व्यापार मेले में बिक्री के लिए उपलब्ध है।
जिसमें बेलमेटल, ढोकरा शिल्प, कोसा सिल्क साड़ियों के स्टाल पर भीड़ जुट रही है। यहाँ प्राकृतिक रंगों से तैयार ड्रेस मटेरियल, बेडशीट, ग्राम उद्योग के हर्बल उत्पाद की खरीदारी की जा रही है।
व्यापार मेले में इस बार 20 से अधिक देश भाग ले रहे हैं। वहीं 800 से अधिक कंपनियां और संस्थाएं आई हैं। आम लोगों के लिए 19 नवंबर से खुलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here