जिला हाॅस्पिटल में अव्यवस्था की जांच के लिए टीम गठित

    फ़ाइल फोटो

    महासमुंद- जिला हाॅस्पिटल में अव्यवस्था की जांच के लिए जिला प्रशासन ने जांच टीम गठित की है। अफसरों की यह टीम 20 नवंबर तक अपनी जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे।
    गौरतलब है कि पिछले दिनों विधायक विनोद चंद्राकर ने जिला हाॅस्पिटल का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में जिला हास्पिटल में डाॅक्टरों की मनमानी का खुलासा हुआ था। 21 डाॅक्टरों के स्टाफ वाले इस हाॅस्पिटल में मात्र दो चिकित्सक ही निर्धारित समय पर मौजूद मिले। डाॅक्टरों के कुछ चैंबर खाली तो कुछ लाॅक रहे। जिस पर नाराजगी जताते हुए विधायक  चंद्राकर ने आवश्यक कार्रवाई के लिए न केवल सीएमएचओ को निर्देशित किया था बल्कि जिला प्रशासन को पत्र लिखकर जांच कर कार्रवाई की बात कही थी। जिस पर जिला प्रशासन ने जिला हाॅस्पिटल में व्याप्त अव्यवस्था की जांच के लिए अफसरों की जांच टीम गठित की है। जिसमें अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सुनील कुमार चंद्रवंशी, डिप्टी कलेक्टर डा नेहा कपूर व महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी सुधाकर बोदले शामिल हैं। जांच टीम 20 नवंबर तक संयुक्त रूप से जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे।

    https;-मार्केट में सोने-चांदी की चमक हो रही है फीकी जानिए वजह

    निरीक्षण के लिए डिप्टी कलेक्टर की डयूटी

    फ़ाइल फोटो

    https;-सरकार ने वन अधिनियम 1927 में संशोधन के मसौदे को वापस लेने का फैसला किया

    जिला हाॅस्पिटल में व्यवस्था में सुधार के लिए जिला प्रशासन ने नियमित रूप से निरीक्षण के लिए डिप्टी कलेक्टर डाॅ नेहा कपूर को अधिकृत किया है। विधायक विनोद चंद्राकर की शिकायत के बाद कलेक्टर के निर्देश पर अपर कलेक्टर ने डाॅ कपूर को इसके लिए अधिकृत करते हुए जिला हाॅस्पिटल का प्रतिदिन निरीक्षण करते हुए चिकित्सक-कर्मचारियों की समय पर उपस्थिति व मरीजों के प्रति उनके व्यवहार को लेकर प्रतिवेदन देने कहा है।

    सुबह आठ बजे उपस्थित रहेंगे चिकित्सक

    जिला हाॅस्पिटल में अब डयूटीरत चिकित्सक सुबह आठ बजे उपस्थित रहेंगे। विधायक  चंद्राकर ने निरीक्षण के दौरान डाॅक्टरों की उपस्थिति को लेकर शासन के निर्देशों का पालन नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए नियमों का पालन करने के निर्देश दिए थे। जिस पर सिविल सर्जन ने जिला हाॅस्पिटल के सभी चिकित्सकों को पत्र जारी कर अंतिम चेतावनी देते हुए अपनी डयूटी के दिन सुबह आठ बजे उपस्थित होने कहा है। समय पर उपस्थित नहीं होने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। सिविल सर्जन ने अपने पत्र में बताया है कि डाॅक्टरों के समय पर अनुपस्थिति को लेकर लगातार शिकायत मिल रही है। जिस पर डाॅक्टरों को अंतिम चेतावनी दी जा रही है।

    साफ-सफाई के लिए नर्सिंग इंचार्ज को निर्देश

    विधायक विनोद चंद्राकर के निरीक्षण के दौरान हाॅस्पिटल के वार्ड में साफ-सफाई में कमी पाई गई थी। साथ ही मरीजों के बिस्तर में दिन के आधार पर अलग-अलग कलर के बेडशीट नहीं थे। जिस पर सिविल सर्जन ने सभी नर्सिंग इंचार्ज को अंतिम चेतावनी देते हुए उक्त कृत्य की पुनरावृत्ति नहीं होने पत्र लिखा है। कार्य में उदासीनता बरते जाने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।