जिला पंचायत सदस्यों को भी मिले विकास निधि,मुख्यमंत्री से की मांग

किसी भी प्रकार की कोई भी निधि नहीं होने से कोई विकास कार्य नहीं करा पाते

जागेश्वर जुगनू चंद्राकर
जागेश्वर जुगनू चंद्राकर

महासमुंद-जिला पंचायत सदस्य जागेश्वर जुगनू चंद्राकर ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर पूर्व में चल रहे जिला पंचायत क्षेत्र में विकास निधि चालू करने के लिए मांग की है.

जिला पंचायत सदस्य जागेश्वर जुगनू चंद्राकर ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि पूर्व में शासन का वर्ष 2016-17 से जिला पंचायत विकास निधि का गठन हुआ था गत 3 वर्ष से प्रति वर्ष 2 करोड़ रुपए इस निधि में जिला पंचायत को आबंटित किया जाता रहा है जिसमें जिला पंचायत सदस्य अपने मद से कार्य कराते थे वह निधि वर्ष 2019-20 से बंद कर दिया गया है

आज की स्थिति में जिला पंचायत सदस्य के पास किसी भी प्रकार का मद नहीं है जबकि हम 40 से 50 हजार जनता के द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि होते हैं जनता को हमसे भी आशाएं होती है हम अपनी क्षेत्र जाकर किसी भी प्रकार से जनता और ग्राम के हित में काम नहीं कर पाते है.

सांसद के पास सांसद निधि होता है विधायक के पास विधायक निधि होता है नगर निगम नगर पालिका नगर पंचायत में भी पार्षद निधि होता है जिससे वह अपने क्षेत्र का विकास कार्यों में अपने निधि का उपयोग करते हैं लेकिन जिला पंचायत सदस्य के पास किसी भी प्रकार की कोई भी निधि नहीं होने से कोई विकास कार्य नहीं करा पाते हैं.

http;-सांसदों के वेतन में एक साल के लिए 30 प्रतिशत कटौती व् सांसद निधि कोष 2 वर्ष के लिए स्थगित

जिला पंचायत सदस्यों के पास जिला पंचायत निधि हो तो गांव की मूलभूत समस्याओं को हम तत्काल दूर कर सकेंगे हर जिला पंचायत क्षेत्र में 30 से 35 ग्राम पंचायत होते हैं हर वर्ष 30 से 35 लाख तक का जिला पंचायत निधि में देने की कृपा करें ताकि हर पंचायत में कम से कम हर वर्ष एक-एक लाख का काम करा सके.

हर गांव से लोगों को उम्मीद ही रहती थी और कहते थे आप अपने मद से यह कार्य करवाइए गा लेकिन आज हमारे पास मद नहीं होने की वजह से अपने क्षेत्र में आवश्यक कार्य भी कराने में असमर्थ है इसीलिए जिला पंचायत सदस्य को निष्क्रिय सदस्य के रूप में गिना जा रहा है.

जिला पंचायत क्षेत्र ग्रामीण में आधा विधानसभा की बराबर होता है इसलिए पूर्व से चले आ रहे जिला पंचायत विकास निधी को पुनःचालू किया जाए और प्रत्येक जिला सदस्य को उनके क्षेत्र के ग्राम के विकास के लिए 35 लाख तक का मद देने की बात कही है.

मुख्यमंत्री से आग्रह करते हुए कहा जिला पंचायत सदस्य जागेश्वर जुगनू चंद्राकर ने कहा है कि जिला पंचायत सदस्यों के आमजनों प्रति योगदान व ग्राम विकास को दृष्टिगत रखते हुए इस विषय पर गंभीरता से विचार कर तत्काल जिला पंचायत विकास निधि को चालू किया जाए ताकि जनता और ग्राम के विकास पर जिला पंचायत सदस्यों का योगदान हो सके.

कार में बर्थ डे पार्टी मनाते हुए 7 युवकों को पड़ा मंहगा,पार्टी अपराध में बदली

हमसे जुड़े;-

Twitter:https:DNS11502659

Facebook https:dailynewsservices/

 WatsApp https:FLvSyB0oXmBFwtfzuJl5gU