Home विविध ट्रेंडिंग माता वैष्णो देवी भवन में हुई भगदड़ से 12 श्रद्धालु की मौत...

माता वैष्णो देवी भवन में हुई भगदड़ से 12 श्रद्धालु की मौत PM ने जारी की अनुग्रह राशि

मृतकों के परिजनों को 2 लाख व् घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे 2 lakh will be given to the next of kin of the dead and Rs 50,000 to the injured.

दिल्ली-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ से प्रभावित पीड़ितों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNRF) से अनुग्रह राशि को मंजूरी दी है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट जारी कर बताया कि माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में हुई मृत व्यक्तियों के परिजनों को PMNRF की ओर से दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी व् घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

ज्ञात हो कि नववर्ष पर मातारानी के दर्शन के लिए गए श्रद्धालुओं में तड़के करीब 2:15 बजे गेट नंबर एक के पास भगदड़ मच गई। श्राइन बोर्ड के अधिकारियों, जिला प्रशासन और पुलिस द्वारा बचाव और निकासी अभियान तुरंत शुरू किया गया इस भगदड़ में 12 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है 16 अन्य जो अस्पताल में भर्ती थे उसमे से 9 लोगो को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। 7 लोग अभी भी अस्पताल में हैं और उनमें से कुछ लोग वेंटिलेटर पर हैं।

गृह मंत्रालय के निर्देश जारी होने के बाद ही माता वैष्णो देवी यात्रा होगी शुरू

माता वैष्णो देवी भवन में हुई भगदड़ से 12 श्रद्धालु की मौत PM ने जारी की अनुग्रह राशि
fail foto

फर्जी नियुक्ति मामले में 35 व्यक्ति शासकीय सेवा से बर्खास्त-MP में

इस मामले में जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा का कहना है कि इस घटना में 12 तीर्थयात्रियों की जान चली गई और 15 तीर्थयात्री घायल हो गए। सरकार ने प्रमुख सचिव गृह, एडीजीपी जम्मू जोन और संभागीय आयुक्त जम्मू की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय टीम द्वारा घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने इस मामले कहा कि यहां भर्ती हुए लोगों की हालत स्थिर है। हम यात्रा के लिए कुछ तकनीकी समाधान जोड़ सकते हैं। पीएम मोदी स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं।

माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल के न्यूरोसर्जन,डॉ जेपी सिंह ने बताया कि माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ से 15 घायलों को अस्पताल लाया गया। 4 आईसीयू में भर्ती हैं। 11 लोग स्थिर थे, जिनमें से 3-4 लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। लगभग 5 का अभी भी इलाज चल रहा है।

हमसे जुड़े :

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »