Home छत्तीसगढ़ कलेक्टर जैन ने कसडोल तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण

कलेक्टर जैन ने कसडोल तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण

अविवादित किस्म के कुछ नामांतरण प्रकरणों के लंबित रखे जाने पर नाराजगी जाहिर की

कसडोल-कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने आज तहसील कार्यालय कसडोल का निरीक्षण किया। उन्होंने तहसील के तीनों राजस्व न्यायालय और SDM कोर्ट में प्रचलित राजस्व प्रकरणों के निराकरण की प्रगति की समीक्षा की। इसके बाद जनपद पंचायत के सभाकक्ष में ब्लॉक स्तरीय अफ़सरों की बैठक लेकर विकास कार्यों में और तेज़ी लाने के निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत की CEO डॉ फरिहा आलम सिद्दिकी एवं अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता भी उपस्थित थे।

संभाग स्तरीय निरीक्षण दल ने किया उर्वरक विक्रय केन्द्रों का आकस्मिक निरीक्षण

कलेक्टर ने किसानों और ग्रामीणों से जुड़े राजस्व प्रकरणों के निराकरण और विकास कार्यो की गति में तेज़ी लाने के लिए आज कसडोल तहसील और जनपद पंचायत का निरीक्षण किया। उन्होंने तमाम राजस्व प्रकरणों की समय-सीमा में निराकरण करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि अविवादित किस्म के नामांतरण और बटवारा में निर्णय का अधिकार सम्बन्धित ग्राम पंचायतों को है। लिहाजा यह काम उन्हें करने चाहिए।

कलेक्टर जैन ने कसडोल तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण

उन्होंने अविवादित किस्म के कुछ नामांतरण प्रकरणों के लंबित रखे जाने पर नाराजगी जाहिर की और तत्काल निराकरण के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि लोक सेवा गारण्टी के कामों का समय-सीमा में निराकरण किये जायें अन्यथा उन्हें दण्डित किया जाएगा। उन्होंने पुराने प्रकरण, नक्शा अपडेट, डिजिटल साइन आदि की जानकारी भी ली। उन्होंने रेंडमली निकालकर कुछ प्रकरणों को देखा कि विधिवत निपटारा हो रहा अथवा नहीं।

कलेक्टर जैन ने कसडोल तहसील कार्यालय का किया निरीक्षण

कलेक्टर जैन ने विकासखण्ड स्तरीय अफसरों की बैठक लेकर योजनाओं में प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने ब्लॉक की सभी आंगनबाड़ी और स्कूलों में इस माह के अंत तक रनिंग वाटर की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

सिंचाई विभाग के अफसरों ने बताया कि अब तक कि बारिश से

बलार जलाशय में 51 प्रतिशत जलभराव हो चुका है।

लगभग 17 हज़ार एकड़ में इससे सिंचाई होती है।

सोनाखान में बन रहा एकलव्य विद्यालय लगभग 95 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है।

उन्होंने शेष काम को जल्द पूर्ण करने कहा है। उन्होंने महिला एवं बाल विकास के

अंतर्गत कार्यरत महिला समूहों को आर्थिक गतिविधियों से जोड़ने के निर्देश दिए।

गौठान में आकर उद्यम शुरू करने वाली समूहों को महिला कोष

योजना के तहत ऋण देने में प्राथमिकता के निर्देश दिए।

हमसे जुड़े :–https://dailynewsservices.com/

Translate »