Home खास खबर खलारी के छाया विश्वकर्मा को मिलेगा बाल वीरता पुरस्कार

खलारी के छाया विश्वकर्मा को मिलेगा बाल वीरता पुरस्कार

पागल कुत्ते के अचानक हमले से अपनी बड़ी बहन की प्राणों की रक्षा की है उनकी साहस प्रशंसा के काबिल है:-

303
0

महासमुंद- खल्लारी स्टेशन पारा की रहने वाली छाया विश्वकर्मा ने पागल कुत्ते के अचानक हमले से अपनी बड़ी बहन को बचाने वाली को बाल वीरता पुरस्कार मिलेगा। राज्य सरकार द्वारा 2022 – 23 के लिए बाल वीरता पुरस्कारों के लिये नामों की घोषणा मे उसका भी नाम दर्ज है।

स्टेशन पारा खल्लारी के वार्ड क्रमांक 14 निवासी रामचन्द्र विश्वकर्मा व केशरी विश्वकर्मा के सुपुत्री छाया विश्वकर्मा (15) का चयन छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद ने किया है। इनके चयन पर स्थानीय लोगों ने छाया विश्वकर्मा का सम्मान  पुष्प गुच्छ ,माला के साथ श्रीफल भेंट व  मिठाई खिला कर किया।

इस मौके पर स्थानीयजनों के साथ देविका बघेल, तारेश साहू, मनहरण गुप्ता, मिल्लुराम साहू, प्रमोद चन्द्राकार,राहुल कुलदीप, इन्द्रकुमार चौहान, राहुल बन्छोर, बरूण यादव, भजन सिंग ठाकुर, बैतल पटेल, लक्षण दीवान आदि ने उन्हें सम्मानित कर बधाई दिया।

नन्हे बहादुर बच्चों की वीरता और सूझबूझ से प्रभावित हुई राज्यपाल उइके

खलारी के छाया विश्वकर्मा को मिलेगा बाल वीरता पुरस्कार

सुझबुझ व साहस की प्रशंसा

छाया विश्वकर्मा के सम्मान के दौरान उपस्थित स्थानीय व क्षेत्रीयजनों ने कहा कि जिस सुझ बुझ, धैर्य एवं साहस का परिचय देते हुये पागल कुत्ते के अचानक हमले से अपनी बड़ी बहन की प्राणों की रक्षा की है। उनकी साहस प्रशंसा के काबिल है।  इस घटना के पश्चात खल्लारी थाना की ओर से जांच प्रतिवेदन तैयार कि गई। जिस कार्यवाही में तात्कालीन थाना प्रभारी अशोक वैष्णव एवं वर्तमान थाना प्रभारी उमाकांत तिवारी ने जनहित में विभागीय कार्यवाही कर सराहनीय योगदान निभाया।

इनका रहा योगदान

पर्यावरण सामाजिक कार्यकर्ता व ग्रीन केयर सोसायटी इंडिया के अध्यक्ष डॉ. विश्वनाथ पाणिग्राही के विशेष मार्गदर्शन में खल्लारी के सामाजिक कार्यकर्ता तारेश साहू ने इस घटनाक्रम की पुरी जानकारी को पत्र के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल को भेजा।

इसके साथ ही कलेक्टर कार्यालय के आवक जावक शाखा और महिला एवं बाल कल्याण विभाग महासमुंद में आवेदन प्रेषित कर छाया विश्वकर्मा को वीरता पुरस्कार दिलाने की मांग करते हुये छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद से उक्त चयन प्रक्रिया में उम्मीद भी जताया था। जिसके साथ ही जूरी समिति ने राज्य वीरता पुरस्कार के लिए इनके द्वारा प्रेषित आवेदनों का चयन किया है।

हमसे  जुड़े :-

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »