Home छत्तीसगढ़ 36गढ़ की संस्कृति को सहेजने का काम रही भूपेश सरकार-विनोद चंद्राकर

36गढ़ की संस्कृति को सहेजने का काम रही भूपेश सरकार-विनोद चंद्राकर

तुमगांव में आयोजित मड़ई मेला में शामिल हुए संसदीय सचिव

60
0

महासमुंद। प्रत्येक गांव में मड़ई मेला का आयोजन हमारे छत्तीसगढ़ी संस्कृति की पहचान है। इस तरह के आयोजन से आपसी प्रेम, भाईचारा व सद्भाव बढ़ता है। उन्होंने कहा कि मड़ई मेला के माध्यम से छत्तीसगढ़ की संस्कृति को सहेजने का काम हो रहा है। भूपेश सरकार छत्तीसगढ़ की संस्कृति, परंपरा को सहेजने का काम कर रही है। उक्त बाते संसदीय सचिव विनोद चंद्राकर ने नगरपंचायत तुमगांव में आयोजित मड़ई मेला में कही। आगे उन्होंने कहा कि मड़ई मेला गांव की समद्धि और एकता का प्रतीक है।

ग्रीन सिनेमा अवार्ड 2023 के मुख्य अतिथि होंगे मुख्यमंत्री शिंदे

नगर पंचायत तुमगांव के बाजार चौक में मड़ई मेला व सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संसदीय सचिव विनोद चंद्राकर थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरपंचायत अध्यक्ष राकेश चंद्राकर, विशेष अतिथि ,नगर पंचायत उपाध्यक्ष पप्पू पटेल, अरूण चंद्राकर, पार्षद धर्मेंद्र यादव, केके साहू, विजय बांधे, गौतम सिन्हा, गजेंद्र साहू, शैलेंद्र सेन, महेश्वरी धीवर, सरस्वती मूर्ति, नीरा शिव साहू, उमादेवी नायक, हर्ष शर्मा, सलीम भाठी, थानू साहू, मानिक साहू, राजेश चंद्राकर, सिद्धांत साहू आदि मौजूद थे।

बाड़मेर की सबसे बड़ी विकास परियोजना है राजस्थान रिफाईनरी प्रोजेक्ट

36गढ़ की संस्कृति को सहेजने का काम रही भूपेश सरकार-विनोद चंद्राकर

राजनांदगांव जिले के एक गाँव मे पाइपलाईन बिछाते समय मटके में मिले मुगलकालीन सिक्के

छत्तीसगढ़ी संस्कृति को बढ़ावा देने के साथ यहां के तीज-त्योहारों में शासकीय अवकाश देने की शुरूआत की गई है। इस दौरान प्रमुख रूप से दादूराम नायक, मोती राम साहू, उदेराम साहू, चैनू साहू, खोरबाहरा साहू, ध्रुवराम साहू, किशन साहू, कन्हैया साहू, समारू यादव, दशरथ महोबिया, पुनउ धीवर, परमानंद धीवर, रामनंद मूर्ति, गैंदराम यादव, नामदेव साहू, अजुकराम पटेल सहित बड़ी संख्या में नागरिकगण मौजूद थे।

हमसे  जुड़े :-

आपके लिए /छत्तीसगढ़/महासमुन्द

भाषा बदले »