धमतरी-नगरपालिक निगम क्षेत्रांतर्गत स्थानीय श्यामाप्रसाद मुखर्जी वार्ड के हरफतराई मार्ग पर बंद पड़ी राइस मिल के गोदाम से आज सुबह 20 बोरियों में रखी गईं 1804 नग चिप रेंज की अंग्रेजी शराब की बोतलें (पौव्वा) जब्त कर आबकारी विभाग के अधिकारियों ने पंचनामा की कार्रवाई की। जब्त 324.72 लीटर शराब की कीमत एक लाख 44 हजार 320 रूपए आंकी गई है। उक्त कार्रवाई के दौरान धमतरी विधायक  रंजना साहू की मौजूदगी में सीलबंद गोदाम की सील तोड़कर ताला आरोपी के पास रखी गई चाबी से खुलवाया गया, जिसके बाद बोरियों में रखी शराब की बोतलों की गिनती कर उनका पंचनामा तैयार कराकर आगे की विभागीय कार्रवाई की गई.

इस संबंध में जिला आबकारी अधिकारी एम.के. जायसवाल ने बताया कि आज सुबह सिटी कोतवाली थाने से सूचना प्राप्त हुई कि स्थानीय रत्नाबांधा निवासी  दयाशंकर पिता कुमुद तिवारी उम्र 31 वर्ष ने थाने में आज सुबह उपस्थित होकर सीलबंद गोदाम में रखी शराब की बोरियां स्वयं के द्वारा उक्त गोदाम में रखना बताया गया। इसके बाद आरोपी को तत्काल हिरासत में लेकर हरफतराई रोड स्थित बंद राइसमिल में लाया गया, जहां उनकी निशानदेही पर उनके पास रखी गई गोदाम की चाबी से ताला खोलकर वहां पाई गईं 20 नग बंद बोरियों को बरामद कर उनमें रखी शराब की बोतलों की गिनती की गई.

इस पूरी कार्रवाई के दौरान धमतरी विधायक साहू तथा वरिष्ठ नागरिकगण उपस्थित थे। शराब से भरी बोतलों की गणना के पश्चात् सभी जब्त बोरियों का पंचनामा तैयार कराया गया तथा आरोपी  तिवारी के विरूद्ध छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम की धारा 34(1)(क), 34(2), 59(क) के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर प्रकरण को विवेचना में लिया गया। इस दौरान पर आबकारी, पुलिस, राजस्व विभाग के अधिकारी एवं शहर के वरिष्ठ नागरिक मौके पर उपस्थित थे.

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार 20 दिसम्बर की शाम को उक्त गोदाम में शराब की बोतलों से भरी बोरियां होने की शिकायत विभाग को प्राप्त हुई थीं, जिस पर कलेक्टर  रजत बंसल ने गम्भीरता से संज्ञान में लेते हुए जिला आबकारी अधिकारी को त्वरित कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। इसके बाद विभाग द्वारा कार्रवाई करते हुए उक्त गोदाम को उसी दिन शाम को सील कर गोदाम के बाहर सुरक्षा हेतु पुलिस/आबकारी बल की तैनाती की गई। नगरीय निकाय निर्वाचन 2019 के तहत 21 दिसम्बर को होने वाले मतदान को दृष्टिगत करते हुए धमतरी विधायक ने इस पर फौरी तौर पर कार्रवाई की मांग की थी.

चूंकि उक्त बोरियां राइस मिल (निजी सम्पत्ति) में रखी गई थीं और उसके मालिक शहर से बाहर थे। इसलिए अगले दिन ताला बंद परिसर की तलाशी के लिए विभाग द्वारा न्यायिक मजिस्ट्रेट से सर्च वारंट के लिए अर्जी पेश की गई थी, जिस पर न्यायालय द्वारा कतिपय बिंदुओं पर जानकारी मांगी गई थी। इसी दरम्यान आरोपी  तिवारी ने आज सुबह थाने में उपस्थित होकर खुद के द्वारा शराब रखे जाने की स्वीकारोक्ति की गई, जिसके बाद आज आरोपी की निशानदेही पर शराब जब्त कर प्रकरण आबकारी विभाग द्वारा विवेचना में लिया गया.

हमसे जुड़े :-

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here