किसानों से की रूबरू चर्चा,15 हजार करोड़ रुपये की होगी धान खरीदीधान की स्टैकिंग और बारदाने में स्टेम्पिंग पर नाराजगी व्यक्त की

गरियाबंद-छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव  आर पी मंडल ने आज गरियाबंद जिले के ओडिसा राज्य की सीमा से लगे देवभोग विकासखंड के धान उपार्जन केन्द्र  झाखरपारा का आकस्मिक निरीक्षण किया. खाद्य सचिव डॉ कमलप्रीत सिंह और राज्य सहकारी विपणन संघ के प्रबंध संचालक  शम्मी आबिदी भी साथ थे.

https;-चीतल शिकार के मामले में क्षेत्र रक्षक को किया गया निलंबित,एक और आरोपी गिरफ्तार

मुख्य सचिव आर पी मंडल ने उपार्जन केंद्र में खरीदे गये धान की स्टैगिंग देखकर नाराजगी जाहिर किया। मौके पर कलेक्टर, एसपी, एसडीएम और खाद्य अधिकारी को व्यवस्थित ढंग से स्टैगिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि धान खरीदी कार्य राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। लगभग 75 दिन तक चलने वाले राज्य सरकार का किसानों के हित में यह महत्वपूर्ण कार्य 1 दिसंबर से शुरू हो गई है जो आगामी 15 फरवरी तक चलेगा।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि धान खरीदी बारदाने पर स्टेम्पिंग गलत ढंग से हो रहा है। खाद्य और राजस्व विभाग के अधिकारी उपार्जन केंद्रों में जाकर स्टेम्पिंग सही ढंग से कराए। उन्होंने कहा कि उपार्जन केंद्रों में किसानों को किसी भी प्रकार की तकलीफ न हो यह सुनिश्चित किया जाए। राज्य सहकारी विपणन संघ के प्रबंध संचालक शम्मी आबिदी ने उपार्जन केन्द्र के लिए बारदाना आबंटन, भंडारण और बारदाने की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली।

https;-सेवानिवृत्ति की आयु दो वर्ष बढ़ाने से चार लाख से अधिक श्रमिकों को मिला लाभ

मौके पर बारदाना पंजी उपलब्ध नहीं कराने पर खाद्य अधिकारी और समिति प्रबन्धक को कड़ी फटकार लगाई। खाद्य सचिव ने अधिकारियों को अवगत कराया कि उपार्जन केंद्र में किसानों द्वारा रखे गए धान की ढेरी सही हो। गुणवत्तापूर्ण व शासन द्वारा निर्धारित मापदंड के आधार पर ही खरीदी किया जाय। प्रति बोरा तौल 40 किलोग्राम हो । उन्होंने स्टैकिग और ड्रेनेज सिस्टम के सम्बंध में भी अवगत कराया। किसानों से रूबरू चर्चा करते हुए मुख्य सचिव  ने किसानों को भरोसा दिलाया कि उपार्जन केन्द्र में व्यवस्था हेतु अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि किसान किसी भी प्रकार के अफवाहों पर ध्यान न देवें। आगामी 15  फरवरी तक क्षेत्र के सभी किसानों का धान शासन द्वारा निर्धारित मापदंड पर खरीदी की जायेगी । कलेक्टर  श्याम धावड़े ने बताया कि जिले के 38 सहकारी समितियों के 62 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी किया जा रहा है। क्षेत्र के 9 उपार्जन केन्द्र सहीत सभी केन्द्रों में अवैध रूप से धान विक्रय करने वाले कोचियों और बिचौलियों पर निगरानी रखी जा रही है । इस अवसर पर कलेक्टर श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक  एम आर आहिरे, एसडीएम  भूपेंद्र साहू, खाद्य अधिकारी  एच. के. डड़सेना, समिति प्रबन्धक नरेन्द्र तांडी, उपार्जन केन्द्र प्रभारी  पी सी ध्रुव और धान विक्रय करने आये किसान मौजूद थे ।

हमसे जुड़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here