बागबाहरा में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं, निर्दलीयों पर टिकी निगाहें,भाजपा को 06, कांग्रेस को 04 सीटें मिली, 05 सीटें निर्दलियों ने जीती,वार्ड नं.09 हिरा सेतराम बघेल व वार्ड नं.11 खिलेश्वरी ताम्रध्वज बघेल की, वार्ड नं. 15 अनीता अजीत ताण्डी निर्दलीय — ये अध्यक्ष पद के है दावेदार

बागबाहरा से अजित पुंज

बागबाहरा:निकाय चुनाव में बागबाहरा नगर पालिका पर भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, बागबाहरा निकाय में भाजपा के 06 प्रत्याशी जीते हैं, जबकि कांग्रेस में 04 व निर्दलीयों ने 05 सीटों पर कब्जा किया है। बागबाहरा में निकाय चुनाव के परिणाम से भाजपा को जहाॅ संजीवनी मिली है, वहीं सत्तारूढ़ कांग्रेस को खल्लारी विधानसभा चुनाव के बाद इस निकाय में आत्ममंथन करने को मजबूर कर दिया है, बागबाहरा में जिस तरह का प्रदर्शन भाजपा ने किया है, उसे तो कांग्रेस के लिए ‘‘वाटरलू’’ साबित होने की भी भविष्यवाणी की जा रही है.

बागबाहरा नगर पालिका में बोर्ड बनाने में अब निर्दलीय ही निर्णायक भूमिका में रहेंगे। भाजपा को अध्यक्ष बनाने के लिए जंहा दो निर्दलीयों की जरूरत है, वंही कांग्रेस को चार निर्दलीय की जरूरत रहेगी। जबकि कुल 05 निर्दलीय जीते हुए हैं। खास बात यह है कि भाजपा में एक भी पार्षद अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित नहीं हुआ है, इस कारण भाजपा की जीत का स्वाद तीखा हो गया है। भाजपा ने 02 आरक्षित वार्डों में महिला उम्मीदवार खड़े किये थे, लेकिन वे दोनों प्रत्याशी चुनाव हार गये हैं.

भाजपा से वार्ड क्र.09 में पूर्व नपा अध्यक्ष  उकिया ताण्डी मैदान में थीं, वह चुनाव हार गयी। सबसे चैकाने वाला नतीजा वार्ड क्र.09 रहा, यहाॅ कांग्रेस की  हीरा सेतराम बघेल ने भाजपा की उकिया शंकर ताण्डी को 200 मतों के भारी अंतर से शिकस्त दी और वह तीसरे क्रम में रहीं.

वार्ड क्र.11 से चन्द्रकला ताण्डी चुनाव लड़ रहीं थी, लेकिन वह कांग्रेस की खिलेश्वरी बघेल से चुनाव हार गयी, वहीं कांग्रेस को अपना बोर्ड बनाने के लिए 04 निर्दलीयों की जरूरत है, लेकिन जहाॅ कांग्रेस के 04 में से 02 प्रत्याशी वार्ड क्र.09 व वार्ड क्र.11 से अध्यक्ष पद के दावेदार विजयी हुए हैं। जबकि 05 निर्दलियों में से वार्ड क्र.15 से पूर्व पार्षद रह चुकी अनिता अजीत ताण्डी जो कि अध्यक्ष पद की पात्रता रखती हैं और स्वयं भी अध्यक्ष बनना चाहेंगी.

कहना न होगा कि पाॅचों निर्दलीय पार्षद एक जुट हो चूके हैं और वे सौदे-बाजी में अध्यक्ष पद व उपाध्यक्ष पद दोनों अपने पास रखना चाहेंगे। अपुष्ट जानकारी के अनुसार निर्वाचित पार्षदों को किसी गोपनीय शहर के किसी होटल में बाड़े बंदी के लिए ले जाया जा गया है.

हमसे जुड़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here