Ad
Home क्राइम निर्भया कांड मामले में सुप्रीम कोर्ट में दायर क्यूरेटिव पिटीशन हुआ खारिज

निर्भया कांड मामले में सुप्रीम कोर्ट में दायर क्यूरेटिव पिटीशन हुआ खारिज

2012 दिल्ली सामूहिक बलात्कार के मामले में  सुप्रीम कोर्ट ने दो दोषियों – विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह की उपचारात्मक याचिकाओं को खारिज कर दिया।

https;-खेलो इंडिया: 17 स्वर्ण, 22 रजत और 35 कांस्य पदकों के साथ पदक तालिका में शीर्ष पर महाराष्ट्र

ज्ञात हो कि 2012 के निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में फांसी की सज़ा पाए चार में से दो दोषियों की क्यूरेटिव पिटिशन पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई हुई जिसमे यह याचिका खारिज हो गई है। डेथ वारंट जारी होने के बाद सजायाफ्ता के लिए यह अंतिम कानूनी विकल्प होता है।

https;-अंतर जिला व्हालीबाॅल स्पर्धा का समापन 700 से ज्यादा व्हालीबाॅल खिलाड़ियों का रहा जमावड़ा

क्यूरेटिव पिटीशन में दोषी विनय शर्मा ने कहा है कि आपराधिक कार्यवाही के कारण उसके पूरे परिवार को सामाजिक प्रताड़ना और अपमान झेलना पड़ा है। इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी किया था। कोर्ट ने इस मामले में चार दोषियों को 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी देने का समय तय किया है।

https;-व्याख्याता एवं शिक्षक का स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन होगा

क्यूरेटिव पिटिशन पर सुप्रीम कोर्ट से खारिज होने के बाद आशा देवी, निर्भया की माँ का कहना है कि यह मेरे लिए बहुत बड़ा दिन है। मैं पिछले 7 सालों से संघर्ष कर रही हु लेकिन सबसे बड़ा दिन 22 जनवरी होगा जब उन्हें (दोषियों को) फांसी दी जाएगी।