बलोदाबाजार:थाना भाटापारा ग्रामीण में दिनांक 7.7.2018 के 8:30 बजे प्रार्थीया ममता भाई डहरिया पति युवराज डहरिया उम्र 26 साल निवासी राजा ढार थाना भाटापारा ग्रामीण अपने ससुर रामेश्वर डहरिया पिता पुनीराम डहरिया निवासी भरसेला थाना सिटी कोतवाली बलोदाबाजार के साथ थाना उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि मै अपने ससुराल भरसेला से अपने बच्चों के साथ अपने मायके से राजाढार में आकर रहते है पति अलग भरसेला में रहता है जो दिनांक 7-7-2018 को सोसाइटी से चावल लेकर भरसेला से राजाढार आए थे.

चावल को घर के बाहर रख कर चले गए जाते हुए मेरी लड़की दिव्या देखी है 2 दिन बाद मै अपने ससुराल में पता करवाई तो वह वहां नहीं पहुंचे थे मेरे पति दिमागी रूप से कमजोर हैं उनका दिमाग ठीक नहीं है आसपास पता किए पता नहीं चला की रिपोर्ट पर गुम इंसान का मांग 47/18 दर्ज कर गुम इंसान की पतासाजी में लिया गया। गुम इंसान पतासाजी के दौरान पता चला कि युवराज बांग्लादेश के ग्राम कुरीग्राम जेल में बंद है जिसे दिनांक 05,11,2019 को विधिवत प्रत्यर्पण प्रक्रिया के दौरान बांग्लादेश बीएसएफ द्वारा भारत बीएसएफ को सौंपने पर भारत बीएसएफ द्वारा चांगड़ाबांधा पुलिस को सौंपा गया चांगड़ाबांधा पुलिस द्वारा छत्तीसगढ़ पुलिस को सौंपने पर विधिवत आज दिनांक को बरामद किया गया युवराज डेहरिया विगत एक वर्ष से बांग्लादेश के कुरीग्राम में बंद था जिसका दिमागी हालत ठीक नहीं है .

यहाँ पढ़े :CBI ने इन मामलो में जब्त किये 7000 करोड़ से अधिक रुपये –

कलेक्टर बलोदाबाजार तथा पुलिस अधीक्षक  निर्देशानुसार नायब तहसीलदार  मयंक अग्रवाल, बाल संरक्षण अधिकारी प्रकाश दास, थाना प्रभारी थाना भाटापारा ग्रामीण नरेश चौहान ,आरक्षक 397 भूपेश यादव को युवराज डेहरिया को बरामद करने के निर्देश पर युवराज डहरिया के परिजन पिता रामेश्वर डेहरिया को साथ लेकर आज दिनांक 5,11,2019 को विधिवत बरामद किया गया है.

यहाँ पढ़े :सेंट्रल द्वारा दो लेडीज़ स्पेशल ट्रेन की हुई शुरुआत जानिए कहां चलेगी ये ट्रेन –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here