बागबाहरा। समीपवर्ती ग्राम सुनसुनिया के कस्तुरबा गांधी बालिका आवसीय विद्यालय में हर साल 14 नवम्बर को बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है।जवाहर लाल नेहरू की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।पंडित जवाहरलाल नेहरू को बच्चों के साथ काफी प्रेम था और बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कह कर पुकारते थे।नेहरू कहते थे कि बच्चे देश का भविष्य है इसलिए जरूरी है कि उन्हें प्यार किया जावे और उनकी देखभाल की जाए जिससे वे अपने पैरों पर खड़ा हो सके।

इसी तारतम्य में आवासीय बालिका विद्यालय में बाल दिवस के मौके पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।विद्यालय की अधीक्षिका सह वार्डन रक्षा साहू, शिक्षिका निराशा ध्रुव, कमलेश कौशिक,व कुंजलता गायकवाड़ ने बताया कि इस अवसर पर विदयालय की छात्राओं की ओर से विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गए एवम कार्यक्रम में छात्राओं के बीच विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम में बालिकाओं को सशक्त बनाने के लिए नारी सशक्तिकरण का पाठ पढ़ाया गया और बालिकाओ के बीच मेहंदी पोस्टर और क्विज रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।इस कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में बीआरसीसी केवलराम टंडन , सीएसई भूपेन निराला व कार्यक्रम समन्वयक चेतना देसाई उपस्थित थे।इस कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्यरत सभी शिक्षिकाओं व अन्य स्टाफ का सहयोग सराहनीय रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here