बलौदाबाजार :कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने आज धान खरीदी और नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियों को लेकर भाटापारा और सिमगा विकासखण्ड का दौरा किया। उन्होंने कहा कि सिमगा विकासखण्ड के ग्राम ढेकुना में ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्तावित शासकीय स्थल पर धान खरीदी किया जायेगा। समिति द्वारा अब तक एक निजी संस्थान की भूमि को किराया पर लेकर धान खरीदी का कार्य किया जाता था। कलेक्टर ने दौरे में रोहरा समिति कार्यालय एवं उपार्जन केन्द्र का निरीक्षण किया। उपार्जन केन्द्र से अवैध अतिक्रमण हटाने के सख्त निर्देश तहसीलदार को दिये। कलेक्टर ने भाटापारा और सिमगा में नगरीय निकाय चुनाव के लिए बनाये गये स्ट्रांग रूम का भी निरीक्षण किया। अपर कलेक्टर  जोगेन्द्र नायक भी दौरे में उपस्थित थे.

यहाँ पढ़े :सिंचाई विस्तार के लिए 50 करोड़ रूपए के कार्य स्वीकृत-

गौरतलब है कि कलेक्टर कार्तिकेय गोयल को सिमगा भ्रमण के दौरान विश्रामपुर समिति के अंतर्गत ढेकुना के कारनामों की जानकारी हुई, तो उन्होंने उप पंजीयक सहकारिता के नेतृत्व में अफसरों की टीम ढेकुना रवाना किया और ग्राम पंचायत द्वारा नये प्रस्तावित स्थल पर खरीदी की तमाम तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिये। उप पंजीयक ने ढेकुना का निरीक्षण करके बताया कि वर्तमान खरीदी केन्द्र का स्थल उचित नहीं होने की वजह से गत वर्ष सोसायटी में लगभग 150 क्विंटल धान खराब हो गया। स्थल के अधिकांश हिस्सों में खेत पसरा हुआ हैं, जिनके कारण जरा भी पानी गिरने पर लबालब हो जाता है। इसके अलावा समिति द्वारा 40 हजार एक सीजन का किराया भी देना पड़ता है। सबसे बड़ी बात गांव में अन्य सुरक्षित स्थल भी उपलब्ध है। इसे देखते हुए कलेक्टर ने ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्तावित नये स्थल पर 1 दिसम्बर से खरीदी शुरू कराने के निर्देश दिये.

यहाँ पढ़े :रायपुर और आरंग के बीच बन रहे टोल नाके का विधायक विनोद चन्द्राकर ने जताया विरोध

कलेक्टर ने रोहरा सोसायटी कार्यालय का भी निरीक्षण किया और चेक लिस्ट के अनुरूप की गई तैयारियों की जांच की। उन्होंने रोहरा के धान उपार्जन केन्द्र का भी मौका मुआयना किया। कुछ लोगों द्वारा स्थल पर किये गए अतिक्रमण पर नाराजगी जाहिर की और तहसीलदार को इसे हटाने के निर्देश दिये। उन्होंने चेक लिस्ट के अनुरूप की गई 38 बिन्दु की तैयारियों का सत्यापन किया। प्रमुख रूप से इन केन्द्रों पर विद्युत व्यवस्था, कम्प्यूटर, प्रिन्टर जनरेटर, इन्टरनेट, आद्रतामापी यंत्र, कांटा-बाट, बारदाना, दीमक रोधी दवाई, रंग एवं सूतली, डाटा एन्ट्री आपरेटर, कर्मचारी, हमाल, बफर लिमिट, फड़ में धान भण्डारण की व्यवस्था, चबूतरा, तारपोलिन, ड्रेनेज, पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या, प्राथमिक उपचार पेटी, बैनर-पोस्टर आदि शामिल हैं। कलेक्टर के साथ भ्रमण में प्रमुख रूप से एसडीएम भाटापारा  महेश राजपूत, एसडीएम सिमगा डीआर रात्रे, उप पंजीयक  डी.आर ठाकुर, सहकारी बैंक के नोडल अफसर  एल.साहू उपस्थित थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here